Immunity power रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

Immunity power रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

किसी बीमारी से अगर हम स्वयं ठीक हो सकते हैं तो वह है हमारी (immunity power) रोग प्रतिरोधक क्षमता ! हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता जितनी तेज होगी उतना ही हम अन्य बीमारियों से बचे रह सकते हैं ! अन्यथा हम सर्दी खांसी बुखार और फ्लू जैसी सामान्य परेशानियों से पीड़ित होते रहेंगे ! रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्यूनिटी पावर सभी लोगों के लिए महत्वपूर्ण एवं जरूरी चीज है

द सन के अनुसार विटामिन डी शरीर में पेप्टाइड पदार्थों को बनाने में मदद करता है ! अर्थात रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए विटामिन डी हमारे शरीर के लिए अति आवश्यक है ! सर्दी खांसी और कोल्ड के लक्षण इम्यूनिटी कम होने के सूचक हैं !

इनसे बचने के लिए विटामिन ए का कंजंपसन नियमित रूप से करना चाहिए ! क्योंकि विटामिन D और विटामिन A हमारी नाक और फेफड़ों को वायरस से बचाने के लिए फेफड़ों को मजबूत रखने में मदद करता है ! विटामिन ए के लिए फल और सब्जियां जैसे संतरे आम खुबानी और तरबूज खाने चाहिए !

ऑतो में रोग प्रतिरोधक क्षमता लगभग 60% होती है ! यह आंत की ऊपरी सतह में मौजूद होती है जो हमारे शरीर को सुरक्षा प्रदान करती हैं ! इसके साथ ही कोशिकाएं प्रोटीन और मानसिक रूप से मजबूती शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं !

यह सभी हमारे शरीर को सही तरीके से काम करने में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं ! जिसके कारण हम संक्रमण वायरस और बीमारियों से लड़ पाते हैं ! जिसके कारण शरीर सेहतमंद बना रहता है ! अगर बीमार होने से बचना है तो अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाना अत्यंत आवश्यक है !

इसी विषय पर आधारित यह लेख आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सहायक हो सकता हैं जिसे हम बहुत शोध करने के बाद आपके लिए प्रस्तुत कर रहे हैं !

रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण causes of immunodeficiency

अनियमित खानपान और अस्वस्थ जीवन शैली रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने का मुख्य कारण होती है ! आवश्यकता से अधिक वजन भी इसका एक कारण है ! जंक फूड बासी भोजन शराब तंबाकू के सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) संबंधित समस्या हो सकती है अब इसके कारणों को लिस्ट के अनुसार समझते हैं !

  • बासी भोजन
  • शराब तंबाकू का सेवन
  • अपर्याप्त नींद
  • जंक फूड
  • अत्यधिक मोटापा
  • अनहेल्दी फूड
  • व्यायाम ना करना
  • अन्य नशीले पदार्थों का सेवन
  • कब्ज

इम्यूनिटी के प्रकार types of immunity power

हमारे शरीर में दो प्रकार की रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है जो निम्नलिखित हैं !

1- इनेट इम्यूनिटी – यह व्यक्ति को अनेक रोगों के प्रति बचाव करती है ! लेकिन यह दीर्घकालीन नहीं होती कुछ समय पश्चात इस प्रकार की इम्युनिटी कम होने लगती है !

2- एडिटिव इम्यूनिटी – यह व्यक्ति को बीमारी के प्रति सुरक्षा प्रदान करती है ! साथ ही यह विशिष्ट रोगजनक (Pathogen) के खिलाफ ज्यादा समय तक शरीर की सुरक्षा करती है !

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्यों आवश्यक है why important immunity power

इस बारे में कि रोग प्रतिरोधक क्षमता मनुष्य के शरीर के लिए क्यों महत्वपूर्ण है ! और इसे कैसे बढ़ाया जा सकता है ! आपको ऐसे सवालों को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं है ! क्योंकि यह लेख इसी प्रश्न पर आधारित है ! आपको ऐसे प्रश्नों के जवाब आज यहां मिल जाएंगे ! तो ज्यादा समय न लेते हुए अच्छी रोग प्रतिरोधक क्षमता क्यों आवश्यक है इस बारे में समझते हैं !

  • जिस व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है ! वह अधिक स्वस्थ रहता है तथा बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है !
  • अगर इम्यूनिटी बेहतर है तो शरीर के साथ-साथ मस्तिष्क भी मजबूत बनता है ! जिससे डिप्रेशन और एंजाइटी होने की संभावना कम हो सकती है !
innate immunity
adetive immunityimmunity power
  • साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी रहने पर शारीरिक रूप से मजबूत बने रहने में सहायता मिलती है और बीमारियों से दूरी बनी रहती है !
  • आने वाली पीढ़ियों को स्वस्थ रखना आवश्यक है अक्सर देखने को मिलता है कि प्रतिरोधक क्षमता की समस्या पीढ़ी दर पीढ़ी तक चलती रहती है !
Immunity power रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बेहतर करें

इम्युनिटी (Immunity power) को बढ़ाने के लिए आप व्यायाम और बेहतर डाइट्स के उपायों को अपना सकते हैं ! नियमित व्यायाम हमारे ब्लड सरकुलेशन को बढ़ाकर इम्यूनिटी को बढ़ाता है ! विटामिन ए विटामिन डी और विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का उपभोग करें ! Vitamin A, C, D का सेवन सेहदमंद रहने के नजरिए से फायदेमंद हो सकता है ! खासकर जब हमारे शरीर को कोल्ड और फ्लू सहित अन्य श्वसन संक्रमण का आक्रमण होता है ! तब यह फायदेमंद साबित हो सकता है !

अतिरिक्त दवा के सेवन से बचें

जादा दवाई खाने से इम्यून सिस्टम में बाधा आती है ! और आपके लिवर, किडनी और रेस्पिरेटरी सिस्टम को कार्य करने में बधायें डालती हैं ! जिससे शरीर की कार्यप्रणाली प्रभावित हो सकती है ! दवाएं और एंटीबायोटिक्स शरीर की बीमारियों को ठीक तो करती हैं ! परंतु यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम कर सकती है !

खराब रोग प्रतिरोधक क्षमता के जोखिम risk of immunity power

खराब रोग प्रतिरोधक क्षमता immunity power के कारण अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जो दीर्घकालिक हो सकती हैं ! इसकी वजह से संक्रमण होने की संभावना अधिक हो जाती हैं जो जल्दी रिकवर नहीं हो पाती ! शारीरिक और मानसिक विकास में कमी आ सकती हैं !

ऐसे में दिमाग और शरीर का संतुलन बिगड़ सकता है ! साथ ही कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है रोग प्रतिरोधक क्षमता जब कम होती है ! तब कोशिकाओं में मौजूद कैंसर तेजी से विकसित होने लगते हैं !

Immunity power रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय
रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय home remedy for increase immunity power

रोग प्रतिरोधक क्षमता को घरेलू उपाय के द्वारा आसानी से बढ़ाया जा सकता है ! कुछ घरेलू उपाय निम्नलिखित हैं !

गिलोय या गुडूची- गिलोय को गुडूची के नाम से भी जाना जाता है गिलोय में एंटीऑक्सीडेंट बहुत अधिक मात्रा में होते हैं ! यह कोशिकाओं को स्वस्थ रखकर बीमारियों से बचाते हैं यह नई बीमारी कोरोना वायरस के आक्रमण से भी बचा सकता है !

जिंक- जिंक युक्त खाद्य पदार्थ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते हैं और यह संक्रमण से भी बचाते हैं ! इसके लिए निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है जैसे सीफूड झींगा मछली रेड मीट चिकन और अंडा दूध और फलियां मूंगफली तिल बादाम इत्यादि !

सेलेनियम- सेलेनियम में भी एंटीआक्सीडेंट और फ्री रेडिकल्स भरपूर होते हैं ! और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं ! इन्हें प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित चीजों को खाया जा सकता है ! जैसे टूना मछली झींगा चिकन केला चावल मशरूम चिया सीड्स इत्यादि !

आयरन- आयरन की कमी होने पर इम्यून सिस्टम ठीक से काम नहीं कर पाता है ! ऐसी स्थिति में इम्यूनोडिफिशिएंसी होती है ! आयरन को प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित चीजों को खा सकते हैं जैसे कम वसायुक्त चिकन पालक सलाद ब्रोकली साबुत अनाज सेम मटर अंकुरित फलियां गुङ खजूर इत्यादि !

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए विटामिंस

अब कुछ विटामिंस के बारे में समझते हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं ! और शरीर को रोग मुक्त कर सकते हैं !

विटामिन ए- विटामिन ए शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है ! साथ ही सूजन या इनफलामेशन को भी रोकता है विटामिन ए प्राप्त करने के लिए गाजर शिमला मिर्च कद्दू शकरकंद आम खुबानी पपीता पनीर दही इत्यादि का सेवन कर सकते हैं !

विटामिन सी- विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का एक बेहतर उपाय हो सकता है ! विटामिन सी प्राप्त करने के लिए नींबू संतरा अंगूर स्ट्रॉबेरी आंवला हरी मिर्च शिमला मिर्च इत्यादि खट्टे तीखे फल और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं !

विटामिन डी- कई शोध से साबित हुआ है कि विटामिन डी फेफड़े और श्वास संबंधित संक्रमण को कम करता है ! विटामिन डी प्राप्त करने के लिए मशरूम विटामिन डी फोर्टीफाइड भोजन और धूप का सेवन किया जा सकता है ! और रोग प्रतिरोधक क्षमता immunity power को बढ़ाया जा सकता है !

Leave a Reply