Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

  • Post author:
  • Post category:Yoga
  • Post last modified:February 19, 2021
  • Reading time:1 mins read

कपालभाति प्राणायाम योग में एक साँस लेने का अभ्यास है ! इसका नाम संस्कृत शब्द कपल से लिया गया है ! जिसका अर्थ खोपड़ी और भाटी (चमकना) है ! यह क्रिया उन्नत श्वास तकनीक के लिए महत्वपूर्ण है जो आपकी छाती को मजबूत करती है ! आपके पेट के अंगों को साफ करती है और आपके संचार के साथ-साथ तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करती है ! कपालभाति प्राणायाम एक कुशल और प्रभावी योगिक अभ्यास है ! आज हम benefits of kapalbhati in Hindi नामक विषय पर बात करेंगे ! जो किसी व्यक्ति को शरीर को ऑक्सीजन देने में मदद करता है। यह एक प्रकार का प्राणायाम है जो व्यक्ति को विभिन्न बीमारियों से छुटकारा दिलाता है, विशेष रूप…

Continue Reading Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

Anulom vilom ke fayade अनुलोम विलोम के फायदे

  • Post author:
  • Post category:Yoga
  • Post last modified:February 5, 2021
  • Reading time:1 mins read

अनुलोम विलोम क्या है: अनुलोम विलोम योग अभ्यास का एक विशिष्ट प्रकार है ! जो स्वास प्रश्वास को नियंत्रित करता है ! इसमें साँस लेते समय एक नथुने को बंद करना होता है ! फिर साँस छोड़ते समय दूसरे नथुने को बंद करना होता है ! फिर इसी प्रक्रिया को बार-बार दोहराया जाता है ! इस श्वास प्रश्वास प्रक्रिया के कई शारीरिक और मनोवैज्ञानिक लाभ हैं ! जिसमें तनाव में कमी और श्वास और परिसंचरण में सुधार शामिल हैं ! यह इस्नोफीलिया, दमा और सर्दी जुखाम के लिए विशेष लाभप्रद है ! साथ ही तनाव, ब्लड प्रेशर और हृदय रोग के लिए Anulom vilom ke fayade बेहद महत्वपूर्ण हैं ! इनमें से कुछ दावों का समर्थन करने वाले…

Continue Reading Anulom vilom ke fayade अनुलोम विलोम के फायदे

Surya namaskar steps सूर्य नमस्कार के 12 चरण शरीर रखेगा फिट

  • Post author:
  • Post category:Yoga
  • Post comments:0 Comments
  • Post last modified:March 1, 2021
  • Reading time:1 mins read

प्राचीन ऋषि भारत का मानना ​​था कि हमारे शरीर के कई अंग अलग-अलग हैं ! (देवताया दैवीय आवेग) सौर जाल जो नाभि में स्थित होता है ! वह हमारे शरीर का केंद्रीय बिंदु होता है ! सोलर प्लेक्सस को शरीर के दूसरे अंग मस्तिष्क के रूप में भी जाना जाता है जो सूर्य से जुड़ा होता है ! ऋषियों के अनुसार नियमित रूप से सूर्य नमस्कार (Surya namaskar steps) का अभ्यास करने से ये सौर जाल बढ़ सकते हैं ! और इससे व्यक्ति की रचनात्मक शक्ति और सहज क्षमताओं में वृद्धि होती है ! और डिप्रेशन जैसी बीमारियों से छुटकारा मिलता है ! यह घुटनों में चिकनाई देता है और जोड़ों को रक्त की आपूर्ति बढ़ाता है ! पूरे…

Continue Reading Surya namaskar steps सूर्य नमस्कार के 12 चरण शरीर रखेगा फिट

Pranayam in hindi प्राणायाम क्या है, प्रकार और लाभ

  • Post author:
  • Post category:Yoga
  • Post comments:0 Comments
  • Post last modified:October 12, 2020
  • Reading time:1 mins read

What is pranayam आज हम जानेंगे कि प्राणायाम क्या है, प्राणायाम के कितने प्रकार है, प्राणायाम के लाभ क्या है इत्यादि ! शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत सारे उपाय है और उसमे से एक मुख्य उपाय योग है ! और योग में बहुत सारे नियम और पद्ति है ! जिसमें से एक है प्राणायाम बहुत सारे लोग बोलते हैं की प्राणायाम एक आशन है ! पर ऐसा बिलकुल भी नहीं है प्राणायाम pranayam को योग का एक अंग हमेसा से माना जाता रहा है ! और उसी तरह आसन भी एक तरह से योग का एक अंग है ! प्राण (साँस) पर नियंत्रण को ही प्राणायाम कहते है ! अगर आप के प्राण जब एक बार…

Continue Reading Pranayam in hindi प्राणायाम क्या है, प्रकार और लाभ

Dhanurasana yoga in hindi : आज धनुरासन करने की विधि और फायदे के बारे में जानेंगे !

  • Post author:
  • Post category:Yoga
  • Post comments:4 Comments
  • Post last modified:March 25, 2021
  • Reading time:1 mins read

आज हम लोग एक आसन के बारे में बात करेंगे जिसका नाम है ! Dhanurasana yoga in hindi इसके बड़े फायदे हैं ! फायदा भी उस चीज में जिसके लिए लोग बहुत परेशान रहते हैं ! और वह है कब्ज पुरुषों और महिलाओं में तो कब्ज की समस्या होती ही है ! और दूसरी महिलाओं से संबंधित जो पेट की आंतों की समस्या या फिर प्रजनन अंगों की समस्या है ! इसमें यह बहुत लाभकारी है साथ ही थायराइड की समस्या ठीक होती है ! शरीर की स्पूर्ति लाता है पाचन शक्ति बढ़ाता है ! हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करता है ! फेफड़ों को ताकत देता है और रीड की हड्डी को मजबूत करता है ! यह…

Continue Reading Dhanurasana yoga in hindi : आज धनुरासन करने की विधि और फायदे के बारे में जानेंगे !