Migraine in hindi : अधकपारी,माइग्रेन का कारण और इलाज क्या है !

Migraine in hindi : अधकपारी,माइग्रेन का कारण और इलाज क्या है !

आज का विषय है migraine in hindi अधकपारी का इलाज क्या है ! इससे मुंह और सिर के आधा दाहिने या बाएं भाग में अत्यधिक दर्द होता है ! बहुत ज्यादा मानसिक परिश्रम, पेशाब की बीमारी, वात धातु दोष आदि कारणों से यह समस्या पैदा होती है ! पुरुषों की अपेक्षा स्त्रियों को यह बीमारी ज्यादा होती है स्त्रियों में मासिक धर्म, गर्भावस्था या प्रसव के बाद के कुछ महीनों तक अधकपारी होना काम होता है !

वैसे यह रोग प्रायः पैतृक होता है जो लोग अधिकतर बैठे रहते हैं या जिन्हें डिप्रेशन की समस्या हैं ! या जो गंदे स्थानों में रहते हैं उन्हें अधकपारी होने का खतरा अधिक होता है ! इस रोग के आक्रमण करने का प्रायः एक निश्चित समय रहता है ! सूर्योदय से सूर्यास्त तक सिर में दर्द का रहना भी इस रोग को पहचानने के लिए काफी है ! अधकपारी का आक्रमण दौरे के रूप में प्रकट होता है !

इसमें मुंह और सिर के आधे भाग में बहुत ज्यादा दर्द होता है ! कभी-कभी यह दर्द इतना तेज होता है कि पीड़ित व्यक्ति दर्द के मारे बेचैन हो जाता है ! दर्द की वजह से पीड़ित को प्रॉपर नींद भी नहीं आती है ! और पर्याप्त नींद ना आने की वजह से यह समस्या और बढ़ जाती है ! संक्षिप्त में कपाल में तेज दर्द खासकर बाएं कपाल में तेज दर्द होना ! ठंड लगना जम्हाई आना उल्टी या मीचली तेज रोशनी और तेज आवाज बिल्कुल सहन ना होना ! सिर में चक्कर (brain/vertigo) रक्ताल्पता अग्निमांद्य होना अचानक से खड़े होने पर सिर में झन्नाहट जैसा दर्द आदि इसके प्रमुख लक्षण होते हैं !

अधकपारी के दौरे कई दिन सप्ताह या महीनों के अंतर से पड़ते रहते हैं ! जिन्हें कब्ज की समस्या होती है उन्हें अधकपारी होने की संभावना बढ़ जाती है ! उचित चिकित्सा होने से यह बीमारी ठीक हो जाती है !

अधकपारी के कारण ! causes of migraine in hindi-

अत्यधिक मानसिक परिश्रम और पेशाब की बीमारी, वात, धातु दोष आदि कारणों से यह रोग पैदा होता है ! महिलाओं में गर्भावस्था के समय या प्रसव के कुछ महीनों बाद तक अधकपारी होने की संभावना बनी रहती है ! यह समस्या प्राय: आनुवंशिकी होती है ! अगर परिवार में किसी को अधकपारी है तो आने वाली पीढ़ी में यह समस्या होने की संभावना अधिक होती है ! दूध, पनीर, चॉकलेट, और ड्राई फ्रूट इनमें सल्फाइड़ होता है इन्हें खाने से अधकपारी की समस्या बढ़ जाती है !

अधकपारी कई दिन सप्ताह या महीनों के अंतर से होती रहती है ! जो लोग साफ-सफाई पर ध्यान नहीं रखते हैं उन्हें भी अधकपारी होने की संभावना बढ़ जाती हैं ! अत्यधिक ठंड पानी या बर्फ का सेवन करने से भी अधकपारी की समस्या बढ़ जाती है ! migraine in Hindi अधकपारी के कुछ कारण निम्नलिखित हैं !

हार्मोन में परिवर्तन ! migraine in Hindi-

कुछ लोगों में हार्मोन के परिवर्तन की वजह से अधकपारी की समस्या हो सकती है ! खासकर उन अवस्था मे जब महिलाएं गर्भवती होती हैं ! अथवा किसी भी परिस्थितियों में हार्मोन परिवर्तन होने के कारण माइग्रेन अधकपारी की समस्या हो सकती है !

दवाओं का अधिक सेवन ! migraine in Hindi-

बहुत से लोग बिना डॉक्टर की सलाह से अपने आप से दवाएं खाते रहते हैं ! अनुचित और अधिक दवाओं के सेवन से अधकपारी की समस्या हो सकती है ! इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह से किसी भी दवा का सेवन नहीं करना चाहिए ! कुछ दवाओं का तंत्रिका पर विपरीत असर पड़ता है !

अत्यधिक तनाव !

अत्यधिक तनाव लेने के कारण भी माइग्रेन की समस्या होती है इसलिए तनाव से बचना चाहिए ! तनाव लेने से मस्तिष्क की कोशिकाओं पर असर पड़ता है और अधकपारी की समस्या शुरू हो जाती है !

यौन गतिविधि !

अधिक मात्रा में यौन गतिविधि करने से भी अधकपारी की समस्या होती है अधिक मात्रा में यौन गतिविधियों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी होती है जिससे अधकपारी की समस्या होने लगती हैं !

अपौष्टिक भोजन !

बिना पोस्टिक भोजन (विटामिन और मिनरल्स की कमी) भी अधपारी का कारण बनता है ! बिना पौष्टिक भोजन से रोग प्रतिरोधक क्षमता घटने लगती है ! इसलिए उस व्यक्ति को माइग्रेन की समस्या हो सकती है जो पौष्टिक भोजन नहीं करते हैं !

अधकपारी के लक्षण : symptoms of migraine in hindi-

अन्य बीमारियों की तरह अधकपारी के भी कुछ लक्षण होते हैं जैसे मुंह और सिर के आधा भाग मैं बहुत ज्यादा दर्द जो प्रायः दिन निकलने के साथ शुरू होता है ! और सूर्यास्त के पश्चात दर्द में कमी आती है ! माइग्रेन का दर्द इतना भयानक होता है कि सिर में झनझनाहट महसूस होती है ! दर्द की वजह से व्यक्ति अनिद्रा का शिकार हो जाता है दर्द इतना तेज होता है कि व्यक्ति को मिचली या उल्टी होने लगती है ! migraine in Hindi अधकपारी के कुछ लक्षण निम्नलिखित हैं !

पीठ और गर्दन में अकड़न !

अधकपारी माइग्रेन के दर्द में पीठ से लेकर गर्दन तक जकड़न महसूस होती है ऐसा तंत्रिकाओ और नसों में संकुचन की वजह से होता है ! ऐसी परिस्थिति में योगाभ्यास करने से यह समस्या दूर हो जाती है !

बार बार पेशाब होना !

अधकपारी की समस्या होने पर व्यक्ति को बार बार पेशाब लगती है अधकपारी और पेशाब की समस्याओं का आपसी संबंध होता है अगर किसी को पेशाब से संबंधित कोई बीमारी है तो उन्हें अधकपारी होती है !

अधिक प्यास लगना !

अधकपारी होने पर व्यक्ति को अधिक प्यास लगती है और वह बेचैन रहता है अधिक पीने की वजह से बार बार पेशाब होती है !

मूड स्विंग होना !

अधकपारी का एक प्रमुख लक्षण होता है मूड स्विंग होना आधे सिर के दर्द में मन बार-बार बदलता रहता है और व्यक्ति को एकाग्रचित होने में कठिनाई होती है !

चक्कर और उल्टी आना !

अधकपारी होने पर व्यक्ति को इतना तेज दर्द होता है कि नर्वस सिस्टम प्रभावित होने लगता है फिर उसे चक्कर आते हैं और उल्टियां होने लगती है ! ऐसी स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना आवश्यक होता है !

 migraine in Hindi : अधकपारी माइग्रेन का कारण और इलाज क्या है

अधकपारी होने पर क्या करें ! migraine in hindi –

अधकपारी से पीड़ित व्यक्ति को पूर्ण आराम करना चाहिए ! साथ ही योग एक्यूप्रेशर मालिश और नियमित व्यायाम करना चाहिए ! इससे माइग्रेन के दौरे में कमी आती है गर्दन पर आइस पैक या सरसों की गर्म पुल्टिस रखने से लाभ मिलता है ! ठंडे जल में भिगा हुआ कपड़ा निंचोड़ कर भी गर्दन या मांथे पर रख सकते हैं ! इससे भी लाभ मिलेगा migraine in Hindi अधकपारी में तेज रोशनी और तेज आवाज से भी बचने का प्रयास करना चाहिए !

  • constipation /कब्ज- को दूर करें
  • पूर्ण आराम करें
  • चाय कॉफी ना पिए
  • घी और तेल से दूरी बनाएं
  • नियमित हल्का व्यायाम करें
  • तेल की मालिश करें
  • पर्याप्त नींद लें
  • योगाभ्यास करें
  • मांस का प्रयोग ना करें
  • साफ सफाई का ध्यान रखें
  • पानी अधिक मात्रा में पिए

अधकपारी का इलाज ! treatment of migraine in Hindi-

migraine in Hindi, अधकपारी की शुरुआत मे ओवर द काउंटर के रूप में पेरासिटामोल या एसिटामिनोफेन या आइबूप्रोफेन का सेवन कर सकते हैं ! इससे सिर का दर्द लगभग ठीक हो जाता है इसके अलावा कुछ दवाऐं निम्नलिखित है जिनसे अधकपारी का इलाज किया जाता है ! बिना डॉक्टर के परामर्श से किसी भी तरह की दवा का सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है !

  • migratan ( sumatriptine)
  • inderal ( propranolol)
  • Vasograin (ergotamine)
  • Sibelium ( flunarizine)

अधकपारी का घरेलू उपचार ! home remedy of migraine in Hindi-

गाय का शुद्ध घी !

गाय का शुद्ध घी दोनों नाको में एक एक बूंद डालने से अधकपारी का दर्द जल्दी ठीक हो जाता है ! लेटते समय गर्दन के नीचे तकिया रखकर नाक में गाय का शुद्ध देसी घी डालें !

लौंग का तेल !

किसी बर्तन में पानी अच्छी तरह उबालकर उसमें लॉन्ग के तेल की कुछ बूंदें डालें जब उसमें से भाप निकलने लगे तो कपड़े का सहारा लेते हुए नाक और मुंह से भाप लें इससे सिर का दर्द (अधकपारी) ठीक हो जाता है !

पुदीने का तेल !

पुदीने के तेल को सूंघने मात्र से अधकपारी का दर्द ठीक हो जाता है ! इसे सूंघने के साथ-साथ अपने माथे और गर्दन पर भी लगा सकते हैं !

तुलसी के पत्ते !

तुलसी के पत्तों को थोड़े पानी के साथ पीसकर माथे पर लगाने से अधकपारी और सिर का दर्द ठीक हो जाता है !

अजवाइन !

अजवाइन को पीसकर पेस्ट बना कर माथे पर लगाने से भी (migraine in Hindi)अधकपारी का दर्द ठीक होने लगता है !

Leave a Reply