Shighrapatan ka ilaj- शीघ्रपतन का कारण/लक्षण और उपचार

shighrapatan ka ilaj

Premature ejaculation जिसे हिन्दी में शीघ्रपतन कहते हैं ! इसे सामान्य भाषा में Early Discharge भी कह सकते है ! यह बहुत ही कॉमन समस्या है ! जो दुनिया भर के 30 से 45% पुरुषों में पाई जाती है ! यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें हर पुरुष अपने पूरे लाइफ में कभी ना कभी शीघ्रपतन की समस्या से प्रभावित होता ही है ! इससे बचने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाना आवश्यक होता है ! साथ ही Shighrapatan ka ilaj होना चाहिए !

अगर काम करते समय प्रथम 1 मिनिट में ही कोई भी पुरुष स्खलित हो जाता है ! तो इसे शीघ्रपतन कहा जा सकता हैं ! अत: कोई व्यक्ति अकेले इस शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित नहीं है बल्कि पूरी दुनिया के लगभग दो तिहाई लोग शीघ्रपतन की समस्या से ग्रस्त हैं !

इसलिए इसका इलाज कराना जरूरी हो सकता है ! डॉक्टर्स का कहना है कि अगर स्खलन होने के बीच का समय यदि 1 मिनट से कम है तो पुरुष को  Premature Ejaculation है !

कई बार यह समस्या इतनी बढ़ जाती है कि शुरू होने के फ़ौरन बाद ही स्खलित हो जाता है !

जब अंदर में प्रवेश के पहले या उसके जस्ट बाद अपने कंट्रोल के बिना ही स्खलन करता है ! तब इसे ही शीघ्रपतन कहते हैं !

यह न्यूनतम उत्तेजना के साथ किया गया काम होता है ! कोई भी व्यक्ति इतनी जल्दी स्खलित होना नहीं चाहता है !

इसके परिणाम स्वरूप कपल क्रिया द्वारा पूरा आनंद नहीं उठा पाते हैं !

शीघ्र पतन का कारण shighrapatan ka ilaj

लगभग सभी व्यक्ति अपने जीवन में कभी ना कभी ऐसी समस्याओं से प्रभावित हुए हैं ! डॉक्टर अभी तक इसका ठोस इलाज नहीं खोज पाए हैं ! तनाव भी इसका एक कारण है ! ऐसी स्थिति शारीरिक और मानसिक कारणों से हो सकती है ! ज्यादातर मामलों का सटीक कारण अभी तक पता नहीं चल सका है ! परंतु shighrapatan ka ilaj होना आवश्यक होता है !

समय बीतने के साथ साथ, पुरुष अपने कामोन्माद को स्थगित करना सीख जाते हैं ! परंतु नए कपल्स अक्सर शीघ्रपतन का सामना करते हैं ! स्खलन के बीच भी ज्यादा समय तक गैप रखना भी इसका कारण हो सकता है ! कुछ अन्य कारण निम्नलिखित हैं !

अत्यधिक उत्तेजना

ज्यादातर मामलों में शीघ्र पतन की समस्या का सही और ठीक ठीक कारण का पता नहीं चल पाता है ! लेकिन पुरुष सम्बन्ध बनाने के अपने अनुभव और उम्र की सहायता से लम्बे समय तक आनंद प्राप्त करते रहते हैं !

कई बार नई महिला साथी के साथ संबंध बनाते समय अत्यधिक उत्तेजना के कारण बहुत जल्दी ही स्खलित हो जाता है ! 

तनाव

कई बार तनाव, डिप्रेशन और घबराहट जैसी मानसिक समस्याओं के वजह से भी शीघ्र पतन की समस्या जन्म लेती है ! ऐसी स्थिति में व्यक्ति आनंद नहीं ले पाता है ! इसे /erectile-dysfunction के नाम से भी जाना जाता है ! इन परिस्थितियों में शीघ्रपतन (sigrapatan ka ilaaj) का इलाज जरूरी हो जाता है !

शीघ्रपतन का लक्षण symptoms of sighrapatan ka ilaaj

काम स्टार्ट के बाद समय से पहले स्खलन का मूल लक्षण स्खलन में देरी करने की अक्षमता होती है ! यह समस्या मास्टरबेशन के समय भी हो सकती है ! वैसे सभी पुरुष अपने पूरे जीवन काल में कभी ना कभी शीघ्रपतन से प्रभावित हुए हैं ! अगर शीघ्रपतन के लक्षण हैं तो (shighrapatan ka ilaj) का इलाज होना आवश्यक है !

शीघ्रपतन में पथ्य आहार shighrapatan ka ilaj

जवा, गेहूं, उड़द, अरहर, आलू, घूइया, गोभी, शकरकंद, पेठा, भिंडी, केला, लौकी, जमी कंद,चौलाई, दूध, दही, घी, मावा, मिश्री, श्रीखरन, दूध, मलाई, सेवन, मोदक, गुड़, गुलाब जामुन, घेवर, फेनी, सहद, डार्क चॉकलेट, किसमिस, बादाम, अखरोट, नारियल, पिस्ता, खजूर, आमला, शकरकंद, जिमीकंद, खरबूजे, बटेर का मांस इत्यादि पौष्टिक पदार्थ का सेवन करना चाहिए !

शीघ्रपतन में अपथ्य आहार-विहार

अत्यधिक खटाई, तेल, लाल मिर्च का प्रयोग, व्रत उपवास आदि, अधिक श्रम, अत्यधिक मिथुन, चिंता, दिन में सोना, व्यभिचार, अधिक चलना, तेज सर्दी गर्मी में निवास करना, बासी आहार, प्रौढ़ा या वृद्धा से विषय सेवन करना आदि अपत्य आहार बिहार की श्रेणी में आते हैं !

आहार में बदलाव

आहार जिंक के अलावा, मैग्नीशियम भी आपके यौन स्वास्थ्य में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ! और अनुसंधान के अनुसार शीघ्रपतन में भी यह एक भूमिका निभा सकता है। अपने आहार में उन खाद्य पदार्थों को शामिल करना जो जिंक और मैग्नीशियम से भरपूर होते हैं !

जो आपको चरमोत्कर्ष तक ले जाने में आपकी मदद कर सकते हैं। उन खाद्य पदार्थों में शामिल हैं !सीप, कद्दू के बीज, सोयाबीन, दही, पालक, बादाम, किडनी बीन्स, तिल के बीज, बीफ और भेड़ का मांस, डार्क चॉकलेट, लहसुन, मटर, इत्यादि !

पुरुष चरमोत्कर्ष कैसे होता है

मेल ऑर्गेज्म, उत्तेजना जब अपनी चरम सीमा पर पहुंचता है ! तब सहज ही मूत्राशय तथा शुक्रगार की अनैच्छिक मांस पेशियां एक साथ सिकुड़ती हैं ! जिससे शुक्र अत्यंत वेग के साथ बहुत महीन धाराओं के रूप में निकलकर प्रोस्टेट स्थित मूत्र मार्ग की अगली दीवार से टकराता है ! इसी समय प्रोस्टेट ग्रंथि की अनैच्छिक मांस तंतु में भी विस्फोट होता है ! उसके बाद प्रोस्टेट निर्मित तरल पदार्थ की फुहारें निकल पड़ती हैं !

वीर्य की यह धारा कितने वेग से निकलती है कि यह लगभग 40 इंच दूर तक जा सकती है ! एक बार के वीर्यपात में लगभग 5 से 13 घन सेंटीमीटर वीर्य निकलता है ! प्रति घन सेंटीमीटर वीर्य में लगभग 5 से 6 करोड़ शुक्राणु होते हैं ! यदि वीर्य स्खलन जल्दी-जल्दी हो तो बाद में इनकी संख्या कम भी हो सकती है !

शीघ्रपतन के प्रकार shighrapatan ka ilaj

समय पूर्व स्खलन या प्राथमिक समय से पहले वीर्य स्खलन पहली बार काम के समय होता ही है ! या कई बार सफल संभोग करने के बाद भी एसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं ! एक अध्ययन के अनुसार एक औसत आदमी के स्टेबल रहने का औसत समय 5.4 मिनट है ! लेकिन कई बार स्तंभन कुछ मिनट या इससे ज्यादा समय तक रह सकता है ! इरेक्शन खत्म होना उम्र, स्वास्थ्य और गतिविधि सहित कई कारकों पर निर्भर करता है !

स्खलन होने से पहले कितने समय तक स्टेबल रहना चाहिए यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकता है ! लेकिन स्खलन से पहले आदमी का अंतिम समय लगभग 4.9 मिनट होना चाहिए !

शीघ्रपतन का उपचार shighrapatan ka ilaj

शीघ्रपतन के लिए कुछ घरेलू नुस्खे निम्नलिखित हैं !

अश्वगंधा

अश्वगंधा पाउडर को हल्के गर्म दूध में मिलाकर सेवन करें ! यह शारीरिक और काम शक्ति को बढ़ाकर शीघ्रपतन को दूर करता है !

ब्लूबेरी

अपने रोज खाने में ब्लूबेरी को शामिल करें यह शरीर की ऊर्जा को छरण होने से बचाता है ! यह शीघ्रपतन में भी फायदेमंद है !

इलायची

रोज सुबह शाम एक से दो छोटी इलायची चबाऐं ! यह शीघ्रपतन की समस्या में विशेष लाभ पहुंचाता है ! इसके साथ केला और खजूर का सेवन भी कर सकते हैं !

प्याज

शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए सबसे आसान उपाय प्याज है ! रोज के खाने में प्याज की मात्रा बढ़ाएं ! प्याज खाने से वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि होती है !

अदरक

अपनी क्षमता अनुसार आधा से एक चम्मच शहद और अदरक का पेस्ट बनाना है ! और इसका सेवन करना है ! इसके सेवन से शरीर की इम्यूनिटी के साथ रक्त संचार भी सुदृढ़ होता है ! और शीघ्रपतन ठीक हो जाता है !

तुलसी

10g ग्राम तुलसी की जड़ को अच्छी तरह पीस लें अब इसे पान में रखकर खाऐ ! या इसे गुड़ के साथ भी खा सकते हैं ! इससे शीघ्रपतन ठीक हो जाता है !

आंवला

5 ग्राम आंवले के चूर्ण बनाकर इसने इतनी ही मात्रा सहद मिलाएं और इसका सेवन करें ! इसमें आवश्यकतानुसार मिश्री मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं !

भिंडी

कच्ची भिंडी को चबाकर खाने से शीघ्रपतन की समस्या दूर होती है ! इसके सेवन से पुरुषों की स्टेबिलिटी मे बढ़ोतरी होती है !

लहसुन

सुबह शाम लहसुन की एक कली को पानी के साथ निगल जाइए ! ऐसा आपको खाना खाने के 1 घंटा पूर्व करना है ! ऐसा करने से कुछ दिनों में ही शीघ्रपतन की समस्या एकदम ठीक हो जाएगी !

निष्कर्ष conclusion

इस विषय Shighrapatan ka ilaj पर आधारित यह लेख संपूर्ण जानकारियों को एकत्रित करके लिखा गया है ! मुझे उम्मीद है कि यह लेख आपकी समस्याओं का निदान करने में सक्षम हो सकता है ! अगर यह लेख आपको पसंद आए तो लाइक शेयर जरूर करें !