Sporlac ds tablet uses in Hindi स्पोरलैक टैबलेट की कीमत खुराक उपयोग लाभ और नुकसान

Sporlac ds tablet uses in Hindi

Sporlac ds tablet uses in Hindi: स्पोरलैक डी एस टैबलेट का उपयोग पेट में आँत की गैस के असंतुलन के कारण होने वाली ! गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है ! इसमें लैक्टिक एसिड बेसिली होता है ! जिसे लैक्टोबैसिलस स्पोरोजेन्स के रूप में जाना जाता है ! यह एक प्राकृतिक प्रोबायोटिक है ! यह मानव जठरांत्र संबंधी मार्ग में माइक्रोफ्लोरा के वातावरण को बेहतर बनाने और पाचन तंत्र के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है ! इसका उपयोग एंटीबायोटिक दवाओं के अत्यधिक उपयोग से जुड़े दस्त के उपचार और रोकथाम के लिए भी किया जाता है !

इस टैबलेट का उपयोग खराब पाचन जैसी स्थितियों में सहायता के लिए भी किया जा सकता है ! यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया की संख्या में सुधार करके पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करता है ! यह आंतों में संक्रमण और एंटीबायोटिक के उपयोग के कारण होने वाली रिकवरी में भी मदद करता है ! जो आंत में मौजूद प्राकृतिक माइक्रोफ्लोरा को बाधित करता है ! यह उन लोगों को भी लाभान्वित करता है जो पेट फूलना और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं जैसे अनियमित मल त्याग का अनुभव करते हैं !

यह लैक्टोबैसिलस से बना है जो आंत का एक सामान्य उपनिवेश है ! यह लैक्टिक एसिड का उत्पादन करके आंत में हानिकारक सूक्ष्मजीवों के विकास को रोककर काम करता है ! यह लैक्टिक एसिड हानिकारक बैक्टीरिया के विकास के लिए आंत के वातावरण को प्रतिकूल बना देता है ! यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया के संतुलन को बहाल करने में भी मदद करता है ! खासकर उनके लिए जो एंटीबायोटिक के उपयोग के बाद या आंतों के संक्रमण के कारण परेशान होते हैं !

इसे भी पढ़ें: Zifi 200 mg tablet uses in Hindi

स्पोरलैक डीएस टैबलेट क्या है What is sporlac

in Hindi

लैक्टिक एसिड बेसिलस एक असक्रिय बैक्टीरिया है जो आंत के लिए बेहद फायदेमंद होता है ! ये अन्य रोगजनक बैक्टीरिया के विकास को रोकते हैं ! जो दस्त या अन्य जीवाणु संक्रमण का कारण बनते हैं ! इस प्रकार, यह जीवाणु संक्रमण के इलाज में मदद करता है ! इसका उपयोग प्रतिरक्षा बढ़ाने, अस्पताल में भर्ती होने से जुड़े दस्त, कैंसर कीमोथेरेपी और योनि संक्रमण के इलाज में भी किया जा सकता है !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट का उपयोग दस्त के लक्षणों और लंबे समय तक पाचन तंत्र की सूजन के उदाहरणों के इलाज के लिए किया जाता है ! इसका उपयोग पाचन विकारों जैसे चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम, सूजन आंत्र रोग, पेट के अल्सर, कब्ज आदि के लक्षणों को दूर करने के लिए भी किया जाता है ! यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (आंत) जीवों को सामान्य करता है ! साथ ही पाचन और प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने में मदद करता है !

यदि आप इसे एंटीबायोटिक दवाओं के साथ ले रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि प्रभावी परिणामों के लिए कम से कम 2 घंटे का समय अंतराल बनाए रखें ! जब आपके डॉक्टर द्वारा अनुशंसित किया जाता है तो आमतौर पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है ! हालांकि, इस दवा की अधिक मात्रा के मामले में, यह पेट की समस्याओं को बढ़ा सकता है !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट का उपयोग और लाभ Sporlac ds tablet uses in Hindi

दस्त :- इस दवा का उपयोग संक्रमण, एंटीबायोटिक आदि के कारण होने वाले दस्त के इलाज के लिए किया जाता है !

अपच :- Sporlac ds tablet uses in Hindi इस दवा का उपयोग पेट में अपच या बेचैनी के इलाज के लिए किया जाता है !

पाचन विकार :- इस दवा का उपयोग पाचन विकारों जैसे इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम, सूजन, आंत्र रोग, पेट के अल्सर, कब्ज आदि के लक्षणों को दूर करने के लिए भी किया जाता है ! अन्य उपयोग निम्नलिखित हैं !

  • कैंसर कीमोथेरेपी
  • एंटीबायोटिक उपचार
  • इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है
  • विटामिन B की कमी

स्पोरलैक डीएस टैबलेट का उपयोग कैसे करें How to use sporlac ds tablet in Hindi

अपने डॉक्टर के निर्देशानुसार Sporlac-DS टैबलेट का सेवन करें ! यह सबसे उत्तम होगा यदि आप इसे इष्टतम परिणामों के लिए एक निश्चित समय पर लेते हैं ! और इसका सेवन अपने डॉक्टर द्वारा बताई गई मात्रा से अधिक नहीं करना चाहिए ! Sporlac ds tablet uses in Hindi

स्पोरलैक डीएस टैबलेट को स्टोर कैसे करें How to store sporlac ds tablet in Hindi

स्पोरलैक-डीएस टैबलेट को ठंडी और सूखी जगह पर स्टोर करें ! इसे सीधे धूप, नमी और गर्मी से बचाएं ! इसे बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें ! एक्सपायरी या क्षतिग्रस्त दवाओं का प्रयोग न करें !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट से सम्बन्धित सावधानियां precautions

अगर आपको Sporlac ds tablet uses in Hindi के किसी भी अवयव से एलर्जी है तो आपको स्पोरलैक-डीएस टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए ! यह 3 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए अनुशंसित नहीं है ! निम्नलिखित स्थितियों में सावधानी के साथ उपयोग करें !

  • आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं।
  • आप लैक्टोज असहिष्णु या दूध के प्रति संवेदनशील हैं।
  • आपको प्रतिरक्षा संबंधी विकार या कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली है।
  • आपके पास मधुमेह, उच्च रक्तचाप, गुर्दे या यकृत की समस्या जैसी कोई मौजूदा चिकित्सा स्थिति है !
  • आप अन्य दवाओं, पूरक, या किसी पूरक या एकीकृत स्वास्थ्य दृष्टिकोण का पालन कर रहे हैं।

स्पोरलैक डीएस टैबलेट की खुराक Sporlac ds tablet doses in Hindi

स्पोरलैक डीएस टैबलेट आम तौर पर दिन में 2 टेबलेट्स तीन बार अथवा दिन में दो बार 1 पाउच 5 से 7 दिन तक लेनी होती है ! दवा की जिस खुराक को लेना आप भूल गए हैं, याद आते ही उसे तुरंत लें ! यदि अगली निर्धारित खुराक का समय हो गया है तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें !

छूटी हुई खुराक की भरपाई के लिए अतिरिक्त दवा का उपयोग न करें ! वैसे इस दवा के ओवरडोज से बिपरीत लक्षण होने की संभावना नहीं है ! हालांकि, यदि आप किसी भी प्रतिकूल प्रभाव का अनुभव करते हैं, तो अपने चिकित्सक से बात करें !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट कैसे कार्य करता है How work sporlac ds tablet in Hindi

स्पोरलैक डीएस एक प्रोबायोटिक है, जिसका अर्थ है कि इसमें असक्रिय तत्व के रूप में लैक्टोबैसिलस होता है ! लैक्टोबैसिलस एक आंत बैक्टीरिया है जो हमारे शरीर में पैदा होते हैं ! लेकिन जब शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को चुनौती मीलती है, तो यह उत्पादन कम हो जाता है ! इसलिए, स्पोरलैक डीएस लैक्टोबैसिलस के बाहरी आपूर्तिकर्ता के रूप में कार्य करता है ! जो शरीर में हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट के नुकसान Sporlac ds tablet Side effrct in Hindi

स्पोरलैक डीएस टैबलेट के कारण गैस, जी मिचलाना, सूजन या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं ! अपने चिकित्सक से बात करें यदि आप इसे लेते समय कोई असामान्य प्रभाव का अनुभव करते हैं !

यदि आपको इस दवा के किसी भी तत्व से एलर्जी है तो इसका उपयोग नहीं करें ! अपने डॉक्टर को बताएं कि क्या आप कोई एंटीबायोटिक दवाएं !

इम्यूनोसप्रेसेन्ट दवाएं और वे सभी दवाएं ले रहे हैं, जिनमें डॉक्टर के पर्चे वाली और बिना प्रिस्क्रिप्शन वाली दवाएं और हर्बल सप्लीमेंट शामिल हैं !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट का अन्य दवा के साथ प्रभाव Sporlac ds tablet interaction in Hindi

अन्य उत्पादों के साथ स्पोरलैक डीएस टैबलेट के संभावित प्रभाव अज्ञात है ! रोगी कुछ एलोपैथिक दवाओं का सेवन करते समय इस दवा Sporlac ds tablet uses in Hindi का उपयोग नहीं कर सकते हैं ! जैसे जिनमें इम्युनोसप्रेसेन्ट मौजूद होते हैं !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट की कीमत Sporlac ds tablet price in Hindi

स्पोर्लैक-डीएस टैबलेट SANZYME लिमिटेड द्वारा निर्मित गोली है ! इसमें लैक्टिक एसिड बेसिलस होता है !इसकी 20 गोलियों की कीमत ₹130.9 है !

स्पोरलैक डीएस टैबलेट के बारे में प्रश्न FAQs in Hindi
Q1- इस दवा को प्रभावी होने में कितना समय लगता है?

Ans. इस दवा Sporlac ds tablet uses in Hindi को अपना प्रभाव स्थापित करने में 8 से 9 घंटे का समय लगता है !

Q2- इस दवा का प्रभाव कितने समय तक रहता है?

Ans. यह दवा शरीर में कितने समय तक प्रभावी रहती है यह चिकित्सकीय रूप से स्थापित नहीं है।

Q3- क्या इस दवा को लेते समय शराब का सेवन करना सुरक्षित है?

Ans. शराब के साथ बातचीत अज्ञात है। इसका सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना उचित है।

Q4- क्या यह दवा गर्भावस्था के दौरान ली जा सकती है?

यह दवा गर्भवती महिला द्वारा उपयोग के लिए सुरक्षित मानी जाती है। हालाँकि, आपको यह दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें।

Q5- क्या स्तनपान के दौरान यह दवा ली जा सकती है?

Ans. यह दवा स्तनपान कराने वाली महिला द्वारा उपयोग के लिए सुरक्षित मानी जाती है। हालाँकि, आपको यह दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए !

Q6- अगर मुझे बुखार हो रहा है तो क्या मैं पैरासिटामोल टैबलेट के साथ स्पोरलैक डीएस का सेवन कर सकता हूं?

Ans. स्पोरलैक डीएस को पेरासिटामोल के साथ प्रतिक्रिया करने के लिए नहीं जाना जाता है, क्योंकि इसके कोई भी मामले सामने नहीं आए हैं। इसलिए, यह माना जा सकता है कि स्पोरलैक डीएस की खुराक पर पैरासिटामोल का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है।

Q7- यदि एक खुराक भूल जाऊं तो क्या होगा?

Ans. यदि आप दवा की एक खुराक भूल गए हैं, तो आप इसे जल्द से जल्द प्राप्त करें ! यदि छूटी हुई खुराक को बहुत समय हो गया है और अगली खुराक का समय लगभग निकट है, तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें और अगली खुराक लें, कभी भी अधिक मात्रा में लेने पर विचार न करें।

Q8- स्पोरलैक डीएस टैबलेट क्या है?

Ans. स्पोरलैक-डीएस टैबलेट एक प्रोबायोटिक है जिसमें लैक्टोबैसिलस स्पोरोजेन्स होता है ! और इसका उपयोग दस्त के इलाज के लिए किया जाता है जो संक्रमण या एंटीबायोटिक दवाओं के कारण होता है।