Kidney stones symptom in Hindi किडनी, गुर्दे की पथरी के लक्षण, कारण और प्रकार

गुर्दे के पथरी का विकास तब होता है जब सेवन किए गए खनिज गुर्दे के अंदर पत्थरों का निर्माण करते हैं ! साथ में पानी कम पीना और आक्जलेट से परिपूर्ण खाद्य पदार्थ संबंधित कारक गुर्दे की पथरी के निर्माण में सहायक होते हैं ! किसी व्यक्ति का चिकित्सा इतिहास भी गुर्दे की पथरी के विकास में योगदान कर सकता है ! जब तक गुर्दे की पथरी आकार में छोटी होती है ! तब तक किसी का ध्यान पथरी की तरफ नहीं जाता है ! लेकिन जब यह बड़े पत्थरों के रूप में परिवर्तित हो जाता है तब तेज असहनीय दर्द, Renal colic हो सकता है ! उपचार के बिना, गुर्दे की पथरी से मूत्र संबंधी समस्याएं, संक्रमण और गुर्दे की क्षति हो सकती है…

Continue Reading Kidney stones symptom in Hindi किडनी, गुर्दे की पथरी के लक्षण, कारण और प्रकार

Liver cirrhosis in hindi लिवर सिरोसिस के लक्षण, निदान क्या है और कैसे होता है उपचार

जिगर शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है ! और आमतौर पर क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने में सक्षम है सिरोसिस तब विकसित होता है ! जब लिवर को नुकसान पहुंचाने वाले कारक जैसे अत्यधिक शराब और अधिक समय तक वायरल संक्रमण का प्रभाव बना रहता है ! जब ऐसा होता है तो जिगर घायल और जख्मी हो जाता है ! और ऐसी स्थिति में जिगर ठीक से काम नहीं कर सकता है ! जिसके कारण शरीर की त्वचा पीली होने लगती हैं ! और आखिरकार इसका परिणाम सिरोसिस Liver cirrhosis in Hindi के रूप में तब्दील हो जाता है ! अंततः लीवर ट्रांसप्लांट ही अंतिम उपाय बचाता है ! अधिकांशत: आप अपने जिगर के नुकसान को ठीक नहीं कर सकते हैं ! लेकिन…

Continue Reading Liver cirrhosis in hindi लिवर सिरोसिस के लक्षण, निदान क्या है और कैसे होता है उपचार

Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

कपालभाति प्राणायाम योग में एक साँस लेने का अभ्यास है ! इसका नाम संस्कृत शब्द कपल से लिया गया है ! जिसका अर्थ खोपड़ी और भाटी (चमकना) है ! यह क्रिया उन्नत श्वास तकनीक के लिए महत्वपूर्ण है जो आपकी छाती को मजबूत करती है ! आपके पेट के अंगों को साफ करती है और आपके संचार के साथ-साथ तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करती है ! कपालभाति प्राणायाम एक कुशल और प्रभावी योगिक अभ्यास है ! आज हम benefits of kapalbhati in Hindi नामक विषय पर बात करेंगे ! जो किसी व्यक्ति को शरीर को ऑक्सीजन देने में मदद करता है। यह एक प्रकार का प्राणायाम है जो व्यक्ति को विभिन्न बीमारियों से छुटकारा दिलाता है, विशेष रूप से मानसिक और मनोवैज्ञानिक समस्याओं का इलाज…

Continue Reading Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

Triphala churn ke fayde त्रिफला चूर्ण के बेहतरीन 15 फायदे

त्रिफला तीन फलों या जड़ी बूटियों आंवला, बहेड़ा और हरड का एक संयोजन है ! आयुर्वेद में इसे त्रिदोष रसायण (Triphala churn ke fayde) के रूप में जाना जाता है ! अर्थात् एक चिकित्सीय एजेंट जो तीनों दोषों- कप, वात और पित्त को संतुलित करता है ! यह विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट का एक समृद्ध स्रोत है ! जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को उन्नत बनाने में मदद करता है ! सुबह खाली पेट त्रिफला की खुराक लेना इसके डिटॉक्सिफाइंग गुण के कारण आंतरिक सफाई के लिए फायदेमंद हो सकता है ! त्रिफला चूर्ण वजन घटाने में भी मदद करता है ! इसमे एंटीऑक्सिडेंट होने के कारण कुछ हृदय रोगों से सुरक्षा भी प्रदान करती है ! त्रिफला चूर्ण जब दूध के साथ लिया जाता है…

Continue Reading Triphala churn ke fayde त्रिफला चूर्ण के बेहतरीन 15 फायदे

Symptoms of depression in Hindi डिप्रेशन का लक्षण और उपचार

अवसाद को एक मूड डिसऑर्डर के रूप में जाना जाता है ! इसे उदासी या क्रोध की भावनाओं के रूप में संदर्भित किया जा सकता है ! यह किसी व्यक्ति की रोज की गतिविधियों को दिशाहीन बनाती है ! वैसे यह एक सामान्य परंतु घातक प्रकार का मानसिक रोग है ! जो सही उपचार से ठीक हो जाता है ! लोग विभिन्न तरीकों से अवसाद Symptoms of depression in Hindi का अनुभव कर सकते हैं ! यह आपके दैनिक कार्य में बाधा उत्पन्न कर सकता है ! जिसके परिणामस्वरूप समय और कार्य की गुणवत्ता कम हो सकती है ! यह व्यवहार और कुछ पुरानी बीमारी को भी प्रभावित कर सकता है ! यह महसूस करना महत्वपूर्ण है कि कई बार सुखद महसूस करना जीवन का…

Continue Reading Symptoms of depression in Hindi डिप्रेशन का लक्षण और उपचार

Shilajit ke fayade शिलाजीत के इतने फायदे क्या आपको पता है

शिलाजीत जो एक प्रकार का खनिज है यह एक चिपचिपा एवं काला टार जैसा पदार्थ है ! जो ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं की चट्टानों से आता है ! शिलाजीत पारंपरिक रूप से भारत और तिब्बत में पाया जाने वाला खट्टा पदार्थ है ! हालांकि अब यह कई अन्य देशों में भी पाया जाता है ! शिलाजीत का उपयोग सदियों से पारंपरिक भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता रहा है ! और इसमें मौजूद यौगिक कई चिकित्सा स्थितियों के लिए फायदेमंद होते हैं ! यहां तक कि यह ह्रदय रोगों और हाई ब्लड प्रेशर के लिए भी सहायक उपचार का काम कर सकता है ! इस लेख में, प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले Shilajit ke fayade और संभावित दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी प्रकाशित की जा…

Continue Reading Shilajit ke fayade शिलाजीत के इतने फायदे क्या आपको पता है

Giloy ke fayade गिलोय के फायदे और औषधीय गुण

सदियों से हम प्रकृति द्वारा निर्धारित संसाधनों के साथ अपने जीवन को स्वस्थ बनाने की कोशिश कर रहे हैं ! इन जड़ी बूटियों में से एक गिलोय भी है ! जिसका उपयोग न केवल आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में किया जाता है ! बल्कि गिलोय का उपयोग आज की दवाओं में भी किया जा रहा है ! इसका उपयोग आमतौर पर मियादी बुखार के इलाज, पाचनशक्ति बढ़ाने और और रोग प्रतिरोधक क्षमता आदि के लिए किया जाता है ! हालांकि गिलोय का तना सबसे उपयोगी होता है ! हम इसकी जड़ का भी उपयोग कर सकते हैं ! तो आइए अब हम प्राचीन काल से इसके उपयोग और Giloy ke fayade पर चर्चा करते हैं ! रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए- (giloy ke fayade in hindi) :-…

Continue Reading Giloy ke fayade गिलोय के फायदे और औषधीय गुण

Anulom vilom ke fayade अनुलोम विलोम के फायदे

अनुलोम विलोम क्या है: अनुलोम विलोम योग अभ्यास का एक विशिष्ट प्रकार है ! जो स्वास प्रश्वास को नियंत्रित करता है ! इसमें साँस लेते समय एक नथुने को बंद करना होता है ! फिर साँस छोड़ते समय दूसरे नथुने को बंद करना होता है ! फिर इसी प्रक्रिया को बार-बार दोहराया जाता है ! इस श्वास प्रश्वास प्रक्रिया के कई शारीरिक और मनोवैज्ञानिक लाभ हैं ! जिसमें तनाव में कमी और श्वास और परिसंचरण में सुधार शामिल हैं ! यह इस्नोफीलिया, दमा और सर्दी जुखाम के लिए विशेष लाभप्रद है ! साथ ही तनाव, ब्लड प्रेशर और हृदय रोग के लिए Anulom vilom ke fayade बेहद महत्वपूर्ण हैं ! इनमें से कुछ दावों का समर्थन करने वाले वैज्ञानिक प्रमाण भी हैं ! अधिकाँश लोग…

Continue Reading Anulom vilom ke fayade अनुलोम विलोम के फायदे

Home remedies for Ringworm दाद, रिंगवर्म होने के कारण और घरेलू उपचार

दाद एक त्वचा का संक्रमण है जो कवक (Fungus infection) के कारण होता है ! दाद आपके शरीर की त्वचा को प्रभावित कर सकता है ! सिर पर होने वाले इन्फेक्शन को टिनिया कॉर्पोरिस ! कमर और पीठ के आस पास होने वाले इन्फेक्शन को टिनिआ कैपिटिस ! और पैरों पर होने वाले इन्फेक्शन को टिनिआ क्रूसिस के नाम से जाना जाता है ! या पैर पर होने वाले इन्फेक्शन को (टिनिया पेडिस, जिसे एथलीट फुट भी कहा जाता है ! अक्सर, आपकी त्वचा पर एक बार में दाद के कई पैच होते हैं ! Home remedies for ringworm in Hindi आज का यह विषय इसी समस्या पर आधारित दाद के 10 प्राकृतिक समाधान है ! टिनिया वर्सीकोलर संक्रमण किसी को भी हो सकता है,…

Continue Reading Home remedies for Ringworm दाद, रिंगवर्म होने के कारण और घरेलू उपचार