Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

Benefits of kapalbhati in hindi कपालभाति प्राणायाम के फायदे और करने का तरीका

कपालभाति प्राणायाम योग में एक साँस लेने का अभ्यास है ! इसका नाम संस्कृत शब्द कपल से लिया गया है ! जिसका अर्थ खोपड़ी और भाटी (चमकना) है ! यह क्रिया उन्नत श्वास तकनीक के लिए महत्वपूर्ण है जो आपकी छाती को मजबूत करती है ! आपके पेट के अंगों को साफ करती है और आपके संचार के साथ-साथ तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करती है ! कपालभाति प्राणायाम एक कुशल और प्रभावी योगिक अभ्यास है ! आज हम benefits of kapalbhati in Hindi नामक विषय पर बात करेंगे !

जो किसी व्यक्ति को शरीर को ऑक्सीजन देने में मदद करता है। यह एक प्रकार का प्राणायाम है जो व्यक्ति को विभिन्न बीमारियों से छुटकारा दिलाता है, विशेष रूप से मानसिक और मनोवैज्ञानिक समस्याओं का इलाज करता है ! खासकर डिप्रेशन जैसी समस्या को ठीक करता है ! यह कम समय की अवधि में वजन घटाने के लिए भी जाना जाता हैं !

कपालभाति प्राणायाम तेजी से सांस लेने की तकनीक है ! जिसे दमा जैसी विभिन्न बीमारियों का इलाज माना जाता है ! चयापचय तकनीक और पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (PCOS) से निपटने के लिए इस तकनीक का विशेष महत्व है ! समीक्षा की गई थी कि यह तकनीक प्रदूषण के कारण होने वाली बीमारियों को ठीक करता है !

कपालभाति के लाभ benefits of kapalbhati in Hindi

यहां कपालभाति प्राणायाम के कुछ शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य लाभ benefits of kapalbhati in Hindi दिए गए हैं ! जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें !

पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम PCOS

पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (पीसीओएस) पुराने समय से एलोपैथिक चिकित्सकों और पारंपरिक चिकित्सकों के बीच बहस और शोध का केंद्र रहा है ! वर्तमान में इसे प्रजनन आयु वर्ग में महिलाओं की सबसे आम एंडोक्रिनोपैथी माना जाता है। यह दुनिया भर में प्रजनन आयु वर्ग की महिलाओं की सबसे आम अंतःस्रावी डिम्बग्रंथि विकार के रूप में सुर्खियों में है। हाल ही में इस सिंड्रोम को एक जीवन शैली विकार के रूप में ब्रांड किया गया है ! कपालभाति के अभ्यास से PCOS सिंड्रोम में महत्वपूर्ण लाभ benefits of kapalbhati in Hindi मिलता है !

कोशिकाओं को नई ऊर्जा मिलती है

कपालभाती प्राणायाम का रोजाना 10-15 मिनट तक अभ्यास करने से शरीर में रक्त संचार बेहतर करने वाली कोशिकाओं का कायाकल्प हो सकता है ! यह प्रक्रिया खोपड़ी को शुद्ध करती है और चेहरे की मांसपेशियों को आराम देती है साथ ही झुर्रियों को कम करती है !

तनाव कम होता है benefits of kapalbhati in Hindi

कपालभाति का दैनिक अभ्यास तनाव और चिंता को दूर करने में भी मदद करता है ! यह आपके मस्तिष्क में ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार करता है ! और आपकी खोपड़ी को शुद्ध करता है ! जो तनाव को कम करने के लिए जरूरी है। इसलिए शारीरिक विश्राम और भावनात्मक शांति के लिए 10-15 मिनट तक इसका अभ्यास करें ! इससे चिंता और तनाव दोनों को फायदा मिलेगा !

महिलाओं में मासिक धर्म होता है नियमित

महिलाएं अक्सर अनियमित मासिक धर्म की समस्याओं से पीड़ित रहती हैं ! जो विभिन्न स्वास्थ्य बीमारियों को जन्म देती हैं ! इसे नियमित करने के लिए बिना किसी लागत के इस समस्या को ठीक किया जा सकता है ! इसके लिए 10-15 मिनट कपालभाति का अभ्यास करें ! कपालभाती प्राणायाम वजन कम करने में भी मदद करता है ! बिना किसी संदेह के वजन घटाने के लिए सबसे अच्छा योग कपालभाति होगा ! हां वजन कम करने का यह सबसे अच्छा तरीका है और पूरी तरह से प्राकृतिक है ! इस अभ्यास को करते समय व्यक्ति अपने पेट क्षेत्र पर थोड़ा दबाव महसूस करेगा ! जो एक व्यक्ति को बेहतर शारीरिक स्थिति की ओर ले जाता है ! यह रक्त परिसंचरण में सुधार करने में मदद करता है ! रक्तचाप में कमी से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं ! तो यह आपके रक्त को शुद्ध करके आपके शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है और इसे स्वस्थ रखता है !

किडनी की कार्य क्षमता बढ़ाए

कपालभाति गुर्दे के कार्य को बेहतर बनाने में मदद करता है ! श्वास व्यायाम का नियमित अभ्यास गुर्दे की शक्ति को बढ़ाता है ! और साथ ही यह गुर्दे की समस्या को भी ठीक करता है ! इस अभ्यास का दैनिक अभ्यास खाली पेट पर 10 -15 मिनट तक करने से गुर्दे की शक्ति में सुधार होगा !

बालों के झड़ने और अस्थमा में लाभदायक

यह साइनस, बालों के झड़ने और अस्थमा में मदद करता है ! यह प्राणायाम सांस संबंधी सभी समस्याओं को हल ! करने में निश्चित रूप से मदद कर सकता है ! यह धीमी और सुखदायक प्रक्रिया है जिसमें गहरी साँस शामिल होती है ! जो दमा की समस्या को दूर करने और उस पर नियंत्रण पाने में आपकी मदद करती है ! यह व्यायाम खोपड़ी क्षेत्र में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर जड़ों को मजबूत बनाता है ! यह आपके दिमाग से तनाव और दर्द को मुक्त करता है ! जिससे एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली भी बनती है !

कब्ज से और एसिडिटी होती है ठीक

कपालभाति प्राणायाम कब्ज और एसिडिटी को ठीक करने में मदद करता है ! यह एक लाभकारी व्यायाम है ! जो कब्ज के लक्षणों को कम करेगा ! 10 से 15 मिनट के लिए इस अभ्यास के दैनिक अभ्यास से आपके शरीर को शुद्धिकरण में मदद मिलेगी ! जिससे पेट की एसिड की समस्या और एसिड रिफ्लक्स का इलाज होगा !

दूर होती है अनिद्रा की समस्या

कपालभाति के दैनिक अभ्यास से अनिद्रा को ठीक करने में मदद मिलेगी ! और नींद की गुणवत्ता में सुधार होगा ! यह मन को शांत करता है तथा तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है ! और आपके शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को निकालता है ! साथ ही पूरे शरीर को सकारात्मक ऊर्जा देता है ! दवाओं की कोई आवश्यकता नहीं है ! क्योंकि यह व्यायाम अनिद्रा को स्वाभाविक रूप से ठीक करता है !

फेफड़ों की कार्य क्षमता बढ़ती है

8 से 10 मिनट के लिए कपालभाती का अभ्यास करके फेफड़ों की समस्याओं का इलाज कर सकते हैं !आजकल प्रत्येक 100 में से 10 लोग विभिन्न प्रकार की फेफड़ों की समस्या से पीड़ित हैं ! कमजोर फेफड़े आपके जीवन के लिए जोखिम हो सकते हैं ! लेकिन यह व्यायाम आपके फेफड़ों से संबंधित सभी समस्याओं को हल करने में आपकी मदद करेगा ! क्योंकि यह आपके फेफड़ों को मजबूत करेगा और उनकी क्षमता बढ़ाएगा ! benefits of kapalbhati in Hindi

याददाश्त और एकाग्रता बढ़ाएं benefits of kapalbhati in Hindi

एंड्रे वैन लिसेबेथ के प्राणायाम द एनर्जेटिक्स ऑफ ब्रीथ नामक पत्रिका में वह मस्तिष्क पर कपालभाती के गहन प्रभावों के बारे में बात करते हैं ! यद्यपि मस्तिष्क खोपड़ी से घिरा हुआ है यह वास्तव में सांस की लय के साथ स्पंदित होता है ! एक कपालभाति अभ्यास जो मस्तिष्क के ऊतकों के चारों ओर रक्त के संचालन को प्रभावित करता है ! कपालभाती जैसी मजबूत प्राणायाम तकनीकें मस्तिष्क के रक्त संचार की मात्रा को बढ़ाती हैं ! लिसेबेथ का कहना है कि यह उत्तेजना मस्तिष्क के सभी बौद्धिक संकायों में सुधार करती है !जिसमें स्मृति और एकाग्रता शामिल हैं !

कपालभाति प्राणायाम कैसे करें Steps of kapalbhati pranayam

सर्वप्रथम योग मुद्रा में आराम से बैठिए ! फिर दोनों हथेलियों को अपने दोनों घुटनों पर रखें ! गहरी साँस लें और अपना पेट खींचें मतलब अपनी नाभि को रीढ़ की ओर की ओर खींचे ! जितना हो सके आराम से करें। पेट की मांसपेशियों के खिंचाव को महसूस करने के लिए आप पेट पर अपना दाहिना हाथ रख सकते हैं। जैसे ही आप नाभि और पेट को शिथिल करते हैं ! श्वास आपके फेफड़ों में अपने आप प्रवाहित होती है। कपाल भाति प्राणायाम के एक दौर को पूरा करने के लिए 20 ऐसी साँसें लें। राउंड पूरा करने के बाद, अपनी आँखें बंद करके आराम से बैठे रहें और अपने शरीर में नई ऊर्जा को महसूस करें ! मैं उम्मीद करता हूं कि यह पोस्ट benefits of kapalbhati in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा !

Triphala churn ke fayde त्रिफला चूर्ण के बेहतरीन 15 फायदे Previous post Triphala churn ke fayde त्रिफला चूर्ण के बेहतरीन 15 फायदे
Liver cirrhosis in hindi लिवर सिरोसिस के लक्षण, निदान क्या है और कैसे होता है उपचार Next post Liver cirrhosis in hindi लिवर सिरोसिस के लक्षण, निदान क्या है और कैसे होता है उपचार

चिकित्सा की स्थिति, डाइट, उपचार, निदान और घरेलू उपचार के बारे में उपलब्ध जानकारी, केवल सामान्य रूप से पढ़ने के लिए है ! उपर्युक्त लेख हमेशा त्रुटि रहित, पूर्ण या अद्यतित नहीं भी हो सकता है ! हालाँकि कोई त्रुटि ना हो इसका पूरा रिव्यु लिया जाता है ! Fit & Well Health का उद्देश्य किसी चिकित्सक से परामर्श को प्रतिस्थापित करना नहीं है ! कोई भी स्वास्थ्य समस्या होने पर किसी डॉक्टर से उपचार अवश्य करवायें !

Social Link