Vitamin chart in Hindi सभी विटामिन के कार्य प्रकार चार्ट स्रोत की सम्पूर्ण जानकारी

Vitamin chart in Hindi सभी विटामिन के कार्य प्रकार चार्ट स्रोत की सम्पूर्ण जानकारी

निम्लिखित विटामिन और खनिजों की सूची से आप समझ सकते हैं ! कि आपके शरीर में विभिन्न प्रकार के विटामिन और खनिज कैसे काम करते हैं ! और यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको किस प्रकार का भोजन करना चाहिए ! इस Vitamin chart in Hindi विटामिन चार्ट में सिफारिशें काफी हद तक चिकित्सा संस्थान के दिशानिर्देशों पर आधारित हैं !

पोषक तत्वों के आधार पर विभिन्न प्रकार के विटामिन की अनुशंसित मात्रा ! मिलीग्राम (मिलीग्राम), माइक्रोग्राम (एमसीजी), या अंतरराष्ट्रीय इकाइयों (आईयू) में व्यक्त की जा सकती है ! जब तक निर्दिष्ट न हो, तब तक 19 वर्ष और उससे अधिक आयु के वयस्कों के लिए अनुशंसित है !

इसे भी पढ़ें: Vg3 टैबलेट का उपयोग और फायदे

विटामिन चार्ट क्या है What is vitamin chart in Hindi

विटामिन पदार्थों का एक समूह है जो सामान्य कोशिका कार्य, वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक होते हैं ! स्वास्थ्य कि दृष्टि से 13 आवश्यक विटामिनों का चार्ट उल्लेखित हैं ! इसका मतलब है कि शरीर को ठीक से काम करने के लिए इन विटामिनों की आवश्यकता होती है वे निम्नलिखित हैं !

  • Vitamin A
  • Vitamin C
  • Vitamin D
  • Vitamin E
  • Vitamin K
  • Vitamin B1 (thiamine)
  • Vitamin B2 (riboflavin)
  • Vitamin B3 (niacin)
  • Vitamin B6 (pyridoxine)
  • Vitamin B12 (cyanocobalamin)
  • Vitamin B5 (pantothenic acid)
  • Vitamin B7 (biotin)
  • Vitamin B9 (folic acid or folate)

विटामिन के प्रकार (Vitamin chart in Hindi)

विटामिन को दो श्रेणियों में बांटा गया है:

वसा में घुलनशील विटामिन: चार प्रकार के विटामिन ए, डी, ई और के वसा में घुलनशील विटामिन हैं ! ये शरीर के यकृत, वसा ऊतक और मांसपेशियों में जमा होते हैं ! ऐ विटामिन आहार वसा की उपस्थिति में शरीर द्वारा अधिक आसानी से अवशोषित होते हैं !

पानी में घुलनशील विटामिन: ऐ नौ प्रकार के विटामिन सी और सभी बी विटामिन पानी में घुलनशील विटामिन हैं ! और यह शरीर में जमा नहीं होते हैं ! क्योकि ये सभी अधिक मात्रा में मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है ! शरीर में कमी या कमी को रोकने के लिए इनका नियमित रूप से सेवन करना चाहिए ! इसका अपवाद विटामिन बी12 है, जिसे लीवर में कई वर्षों तक संग्रहीत किया जा सकता है !

Vitamin chart in Hindi

1: विटामिन A

इसे रेटिनॉल नाम से भी जाना जाता है ! विटामिन A मुख्यतः भोजन के पशु स्रोतों और अन्य प्रकार के पौधों के खाद्य पदार्थों से मिलता है ! यह आपको रात में देखने, लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है ! यह कोशिकाओं को नुकसान और उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन नामक एक आंख की समस्या को रोकने में मदद करता है !

लेकिन बहुत अधिक विटामिन ए आपके लीवर को नुकसान पहुंचा सकता है ! विटामिन A कि पूर्ति के लिए नारंगी सब्जियां और फल जैसे शकरकंद और खरबूजा, पालक और अन्य साग, डेयरी खाद्य पदार्थ, और समुद्री भोजन जैसे झींगा और सामन खाएं !

2: विटामिन B1

इसे थायमिन भी कहा जाता है ! (विटामिन बी1) शरीर की कोशिकाओं द्वारा कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है ! गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान पर्याप्त कार्बोहाइड्रेट प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है ! यह हृदय क्रिया और स्वस्थ तंत्रिका कोशिकाओं के लिए भी आवश्यक है ! विटामिन B1 की पूर्ति के लिए ब्रेड, अनाज, पास्ता, दुबला मांस, सूखे सेम, सोया खाद्य पदार्थ, मटर और साबुत अनाज खाएं !

3: विटामिन B2

इसे राइबोफ्लेविन नाम से भी जाना जाता है ! (विटामिन बी2) अन्य बी विटामिन के साथ काम करता है ! यह शरीर के विकास और लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण है ! पूर्ति के लिए मांस, अंडे, फलियां (जैसे मटर और दाल), नट, डेयरी उत्पाद, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकोली, शतावरी खाएं ! Vitamin chart in Hindi

4: विटामिन B3

नियासिन को विटामिन बी3 के नाम से भी जाना जाता है ! यह विटामिन स्वस्थ त्वचा और तंत्रिकाओं को बनाए रखने में मदद करता है ! उच्च खुराक पर इसका कोलेस्ट्रॉल कम करने वाला प्रभाव भी होता है ! पूर्ति के लिए आपको रेड मीट, पोल्ट्री, मछली, गर्म और ठंडे अनाज और मूंगफली खाना चाहिए !

5: विटामिन B5

इसे पैंटोथेनिक एसिड के नाम से भी जाना जाता है ! (विटामिन बी5) भोजन के चयापचय के लिए आवश्यक है ! यह हार्मोन और कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन में भी भूमिका निभाता है ! पूर्ति के लिए एवोकाडो, ब्रोकोली,मांस, मछली इत्यादि खाएं !

6: विटामिन B6

विटामिन बी6 को पाइरिडोक्सिन भी कहा जाता है ! विटामिन बी6 लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने और मस्तिष्क के कार्य को बनाए रखने में मदद करता है ! यह विटामिन उन प्रोटीनों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ! जो शरीर में कई रासायनिक प्रतिक्रियाओं का हिस्सा होते हैं ! आप जितना अधिक प्रोटीन खाते हैं ! आपके शरीर को उतनी ही अधिक पाइरिडोक्सिन की आवश्यकता होती है ! पूर्ति के लिए आलू, केले, बीन्स, बीज, मेवे, रेड मीट, पोल्ट्री, मछली, अंडे, पालक खाएं !

7: विटामिन B7

विटामिन बी7 को बायोटिन कहा जाता है ! बायोटिन प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट के चयापचय के लिए जिम्मेदार है ! साथ ही हार्मोन और कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन के लिए भी आवश्यक है ! और इसकी कमी से बाल भी झड़ सकते हैं ! पूर्ति के लिए अंडे की जर्दी, सब्जिया साबुत अनाज खाएं ! Vitamin chart in Hindi

8: विटामिन B9

इसे फोलिक एसिड भी कहा जाता है ! फोलेट लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करने के लिए विटामिन बी 12 के साथ काम करता है ! डीएनए के उत्पादन के लिए इसकी आवश्यकता होती है ! जो ऊतक वृद्धि और कोशिका कार्य को नियंत्रित करता है ! गर्भवती होने वाली किसी भी महिला को पर्याप्त फोलेट मिलना सुनिश्चित करना चाहिए ! फोलेट के निम्न स्तर स्पाइना बिफिडा जैसे जन्म दोषों से जुड़े होते हैं ! कई खाद्य पदार्थ अब फोलिक एसिड के रूप में फोलेट के साथ उपलब्ध हैं ! पूर्ति के लिए जिगर, सूखे सेम और अन्य फलियां, हरी पत्तेदार सब्जियां, शतावरी और संतरे का रस खाएं !

9: विटामिन B12

इसे सायनकोबालामिन के नाम से भी जाना जाता है ! विटामिन बी 12, अन्य बी विटामिन की तरह, चयापचय के लिए महत्वपूर्ण है ! यह लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को बनाए रखने में भी मदद करता है ! पूर्ति के लिए चिकन, फिश, अंडे, दूध खाएं !

10: विटामिन C

विटामिन सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड भी कहा जाता है ! यह एक एंटीऑक्सिडेंट है जो स्वस्थ दांतों और मसूड़ों को बढ़ावा देता है ! यह शरीर को आयरन को अवशोषित करने और स्वस्थ ऊतकों को बनाए रखने में मदद करता है ! यह घाव भरने के लिए भी यह आवश्यक है ! पूर्ति के लिए खट्टे फल, स्ट्रॉबेरी, कीवी, अमरूद, मिर्च, टमाटर, ब्रोकोली, और पालक खाएं !

11: विटामिन D

इसे एर्गोकलसिफ़ेरोल या “सनशाइन विटामिन” के रूप में भी जाना जाता है ! क्योंकि यह धूप में रहने के बाद शरीर द्वारा बनाया जाता है ! सप्ताह में 3 बार दस से 15 मिनट की धूप अधिकांश अक्षांशों पर अधिकांश लोगों के लिए शरीर की विटामिन डी की आवश्यकता को पूरा करने के लिए पर्याप्त है ! जो लोग धूप वाले स्थानों में नहीं रहते हैं वे पर्याप्त विटामिन डी नहीं बना सकते हैं ! अकेले खाद्य स्रोतों से पर्याप्त विटामिन डी प्राप्त करना बहुत कठिन है ! विटामिन डी शरीर को कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है !

स्वस्थ दांतों और हड्डियों के सामान्य विकास और रखरखाव के लिए आपको कैल्शियम की आवश्यकता होती है ! यह कैल्शियम और फास्फोरस के उचित रक्त स्तर को बनाए रखने में भी मदद करता है ! पूर्ति के लिए अपनी त्वचा पर धूप प्राप्त करें ! आप अंडे की जर्दी, तैलीय मछली जैसे सैल्मन, टूना और सार्डिन, और दूध, सोया दूध और संतरे के रस पियें और खाएं !

12: विटामिन E

विटामिन ई एक एंटीऑक्सीडेंट है जिसे टोकोफेरोल भी कहा जाता है ! यह शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है ! साथ ही रक्त प्रवाह को नियंत्रित करता है ! और विटामिन के का उपयोग करता है ! पूर्ति के लिए वनस्पति तेल, मेवा और हरी पत्तेदार सब्जियां ! एवोकैडो, गेहूं के बीज और साबुत अनाज खाएं !

13: विटामिन K

विटामिन k को फाइलोक्विनोन के नाम से भी जाना जाता है ! रक्त श्राव को रोकने के लिए विटामिन K की आवश्यकता होती है ! क्योंकि इसके बिना रक्त आपस में चिपकता नहीं है ! कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि यह हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है ! पूर्ति के लिए पत्तेदार सब्जिया, एवोकाडो, छिलके वाले अनाज खाएं !

विटामिन चार्ट
विटामिन्स की कमी से होने वाले रोग Vitamin chart in Hindi

विटामिन ए——— रतौंधी
विटामिन बी1———बेरीबेरी
विटामिन बी2——– एरिबोफ्लेविनोसिस
विटामिन बी3 ———पेलाग्रा
विटामिन बी5 ———पेरेस्टेसिया
विटामिन बी6 ———एनीमिया
विटामिन बी7 —— जिल्द की सूजन, आंत्रशोथ
विटामिन B9 और विटामिन B12 —– मेगालोब्लास्टिक रक्ताल्पता
विटामिन सी —— स्कर्वी, मसूड़ों की सूजन
विटामिन डी —— रिकेट्स और अस्थिमृदुता
विटामिन ई —— कम प्रजनन क्षमता
विटामिन K —— रक्त का थक्का न बनना।

निष्कर्ष Conclusion of vitamin chart in Hindi

उपर्युक्त लेख में हमने Vitamin chart In Hindi के बारे में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करने का प्रयास किया है ! मुझे उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपको अवश्य पसंद आया होगा ! ऐसे ही महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे वेब पेज Fit &Well Health से जुड़े रहें ! धन्यवाद,

Cypon syrup uses in Hindi सायपन सिरप का उपयोग लाभ कीमत खुराक और नुकसान Previous post Cypon syrup uses in Hindi सायपन सिरप का उपयोग लाभ कीमत खुराक और नुकसान
Salmon fish in Hindi सालमन मछली के फायदे प्रकार पकाने का तरीका और नुकसान Next post Salmon fish in Hindi सालमन मछली के फायदे प्रकार पकाने का तरीका और नुकसान

चिकित्सा की स्थिति, डाइट, उपचार, निदान और घरेलू उपचार के बारे में उपलब्ध जानकारी, केवल सामान्य रूप से पढ़ने के लिए है ! उपर्युक्त लेख हमेशा त्रुटि रहित, पूर्ण या अद्यतित नहीं भी हो सकता है ! हालाँकि कोई त्रुटि ना हो इसका पूरा रिव्यु लिया जाता है ! Fit & Well Health का उद्देश्य किसी चिकित्सक से परामर्श को प्रतिस्थापित करना नहीं है ! कोई भी स्वास्थ्य समस्या होने पर किसी डॉक्टर से उपचार अवश्य करवायें !

Social Link