Blood cancer in hindi- ब्लड कैंसर के शुरुआती लक्षण और इलाज

बदलते लाइफस्टाइल और गलत खान पान के कारण लोगों को कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है जिनमें से एक है ब्लड कैंसर अर्थात ल्यूकीमिया कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है ! 40 वर्ष के बाद इसके होने का खतरा अधिक होता है ! वैसे शुरुआती दिनों में इसके लक्षण स्पष्ट नहीं हो पाते हैं ! जिसके कारण बाद में यह बीमारी बढ़ जाती है ! इसलिए हर किसी को इसके शुरुआती लक्षणों की जानकारी होना अनिवार्य है ! ताकि समय रहते ब्लड कैंसर का इलाज (blood cancer treatment in hindi) किया जा सकें ! आने वाले समय में ऐसा भी हो सकता है कि सुगर/डायबिटीज की तरह कैसर की  बीमारी से भी लोग लड़ सकेंगे ! कैंसर जैसी  बीमारी जिसे हो जाती है ! तो वह अब यह सोच सकेगा कि अब कैंसर के साथ जीवित रह सकता है ! कैंसर जैसी बीमारी किसी को भी हो सकती…

Continue Reading Blood cancer in hindi- ब्लड कैंसर के शुरुआती लक्षण और इलाज

Dysentery in Hindi- पेचिश (आंव) के कारण प्रकार और उपचार –

आंतों में इन्फेक्शन उपरांत चिकनाई या ब्लड मिश्रित मल के बाहर आने को ही Dysentery in hindi या पेचिश (आंव) कहते हैं ! खासकर बैक्टीरिया और अमीबा द्वारा इंसान में पेचिश का प्रादुर्भाव होता है ! वैसे ज्यादातर अमीबा नामक जीवाणु ही इसके मुख्य कारण होते हैं ! यह दूषित खाने पीने की चीजों से प्राय: हुआ करता है ! पेचिश के बैक्टीरिया मल में होते हैं और मक्खियों के द्वारा यह बीमारी लोगों में फैला करती है ! पेचिश के लक्षण धीरे-धीरे प्रारंभ होते हैं ! इसमें दस्त की संख्या में वृद्धि हो जाती है और क्वांटिटी (मात्रा) घट जाती है ! तत्पश्चात निर्जलीकरण के लक्षण प्रदर्शित होने लगते हैं ! ऐसे में ओआरएस पाउडर से लाभ मिलता है ! दस्त में अमीबा बैक्टीरिया…

Continue Reading Dysentery in Hindi- पेचिश (आंव) के कारण प्रकार और उपचार –

Shighrapatan ka ilaj- शीघ्रपतन का कारण/लक्षण और उपचार

Premature ejaculation जिसे हिन्दी में शीघ्रपतन कहते हैं ! इसे सामान्य भाषा में Early Discharge भी कह सकते है ! यह बहुत ही कॉमन समस्या है ! जो दुनिया भर के 30 से 45% पुरुषों में पाई जाती है ! यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें हर पुरुष अपने पूरे लाइफ में कभी ना कभी शीघ्रपतन की समस्या से प्रभावित होता ही है ! इससे बचने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाना आवश्यक होता है ! साथ ही Shighrapatan ka ilaj होना चाहिए ! अगर काम करते समय प्रथम 1 मिनिट में ही कोई भी पुरुष स्खलित हो जाता है ! तो इसे शीघ्रपतन कहा जा सकता हैं ! अत: कोई व्यक्ति अकेले इस शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित नहीं है बल्कि पूरी दुनिया के…

Continue Reading Shighrapatan ka ilaj- शीघ्रपतन का कारण/लक्षण और उपचार

Migraine in hindi : अधकपारी,माइग्रेन का कारण और इलाज क्या है !

आज का विषय है migraine in hindi अधकपारी का इलाज क्या है ! इससे मुंह और सिर के आधा दाहिने या बाएं भाग में अत्यधिक दर्द होता है ! बहुत ज्यादा मानसिक परिश्रम, पेशाब की बीमारी, वात धातु दोष आदि कारणों से यह समस्या पैदा होती है ! पुरुषों की अपेक्षा स्त्रियों को यह बीमारी ज्यादा होती है स्त्रियों में मासिक धर्म, गर्भावस्था या प्रसव के बाद के कुछ महीनों तक अधकपारी होना काम होता है ! वैसे यह रोग प्रायः पैतृक होता है जो लोग अधिकतर बैठे रहते हैं या जिन्हें डिप्रेशन की समस्या हैं ! या जो गंदे स्थानों में रहते हैं उन्हें अधकपारी होने का खतरा अधिक होता है ! इस रोग के आक्रमण करने का प्रायः एक निश्चित समय रहता है…

Continue Reading Migraine in hindi : अधकपारी,माइग्रेन का कारण और इलाज क्या है !

Cough खांसी, सर्दी, जुकाम का कारण और अचूक घरेलू उपचार !

आमतौर पर गले और फेफड़ों में बैक्टीरिया और वायरस के संक्रमण द्वारा Cough खांसी सर्दी जुकाम होता है ! कभी-कभी गले में खराश होने की वजह से भी खांसी सर्दी जुकाम होता है ! यह कई अन्य रोगों का लक्षण मात्र है ! सर्दी काली खांसी, निमोनिया, तपेदिक, दमा, ब्रोंकाइटिस, प्लूरसी और जिगर की खराबी आदि रोगों में खांसी सर्दी जुकाम का प्रादुर्भाव हो सकता है ! एक होती है सूखी खांसी जिसमें बलगम नहीं आता है ! इसमें छाती में जकड़न महसूस होती है ! इस प्रकार की खांसी दमा,निमोनिया/pneumonia-,तपेदिक, ब्रोंकाइटिस और प्लूरसी की प्रारंभिक अवस्था में होती है ! दूसरी होती है तर खांसी इसमें बलगम आराम से और ज्यादा मात्रा में निकलता है ! सच तो यह है कि ज्यादा मात्रा में…

Continue Reading Cough खांसी, सर्दी, जुकाम का कारण और अचूक घरेलू उपचार !

हिस्टीरिया (Hysteria ) के लक्षण और उपचार !

हिस्टीरिया स्त्रियों में होने वाली एक मानसिक बीमारी है ! जिसमें मिर्गी के सामान दौरे पड़ते हैं ! परंतु यह मिर्गी से भिन्न एक मेंटल डिसऑर्डर है ! जो प्राय: कम उम्र की ऐसी स्त्रियों को हुआ करता है जो मानसिक रूप से कमजोर होती हैं ! या जिन्हें गर्भाशय संबंधी कोई विकार होता है ! शोक चिंता दुख मानसिक चोट किसी के प्रेम से वंचित रहना मानसिक गड़बड़ी डिंबासय और जरायु रोगों के कारण ! आमतौर पर यह होता है ! मोटे तौर पर हम यह भी कह सकते हैं कि नाड़ियों की कमजोरी के कारण हिस्टीरिया Hysteria होता है ! हिस्टीरिया स्वयं में कोई रोग नहीं है बल्कि यह अन्य दूसरी समस्याओं के कारण उत्पन्न हो जाता है ! हिस्टीरिया का दौरा पड़ने…

Continue Reading हिस्टीरिया (Hysteria ) के लक्षण और उपचार !