Renal colic जानिए पेट का दर्द कहीं पथरी का दर्द (गुर्दे, वृक् सूल) तो नहीं है

Uric acid hindi- यूरिक एसिड बढ़ने से होने वाले रोग, लक्षण, कारण और उपचार

जब तक पथरी गुर्दे में रहती है तब तक हल्का होता है ! किंतु जब यह पथरी मूत्र नली में आ जाती है तब बड़े जोर का दर्द Renal colic होने लगता है ! बहुत भयंकर दर्द होता है दर्द के मारे रोगी पागल सा हो जाता है ! इस दर्द के कारण उल्टी भी होती है ! यह दर्द रिनल कोलिक या वृक सूल के नाम से जाना जाता है ! गुर्दे का दर्द पेट के दाहिनी तरफ से लेकर पिठ तक और पैर तक फैल जाता है ! गुर्दे की पथरी का दर्द चावल खाने या ठंडी चीजों के प्रयोग के बाद शुरू होता है ! कब्ज होने पर भी गुर्दे का दर्द शुरू हो जाता है ! गुर्दे के दर्द में कमर और पेट में दर्द उठना वेदना जांघ और अंड ग्रंथि की ओर जाना !

इसे भी पढ़ें – https://fittandwellhealth.com/gall-stone-cholelithiasis in hindi/

या समस्त पेट मे फैल कर छाती और पीठ की तरफ जाना ! तेज और असहाय वेदना के मारे रोगी का दोहरा हो जाना ! ठंडे पसीना आना, नब्ज तेज और कमजोर पड़ना, कंप के साथ ज्वर होना ! मितली आना, दौरे के समय मूत्र थोड़ा-थोड़ा करके दर्द के साथ आना या बिल्कुल बंद हो जाना ! कभी-कभी इसमें रक्त आने इत्यादि के लक्षण भी उत्पन्न होते हैं !

दर्द के साथ कंपकपी, ठंडा पसीना, /collapse ! और अंडकोष फुला, सिकुड़ा या ऊपर को उठा हुआ प्रतीत होता है ! यह दर्द चंद घंटों से लेकर 1 से 2 दिन तक रहता है ! और अक्सर पथरी के वृक्क में लौट जाने या मूत्राशय में उतर आने के बाद बंद हो जाता है !

गुर्दे की पथरी के दर्द के साथ अपेंडिक्स प्रदाह और पित्त सुल के दर्द का भ्रम होता है ! कभी-कभी पथरी के कारण यदि मूत्र नली रुक जाती है ! तो पेशाब आना बंद हो जाता है ! और संकट की स्थिति उत्पन्न हो जाती है !

पथरी के दर्द के लक्षण renal colic symptoms due to kidney stone

गुर्दे के शूल के लक्षण गुर्दे में क्रिस्टल के गठन से संबंधित हैं ! ये पत्थर मूत्र उत्पादन को अवरुद्ध कर सकते हैं, जिससे दर्द, सूजन और संक्रमण हो सकता है ! गुर्दे की पथरी के दर्द renal colic के कुछ मुख्य लक्षण निम्नलिखित हैं !

  • पेट में दाहिनी तरफ तेज दर्द होना !
  • पेट में तेज दर्द के साथ उल्टी होना !
  • पेट दर्द पिठ से लेकर पैर तक फैलना !
  • पेट दर्द के साथ ठंडे पसीना आना !
  • पेट दर्द के साथ नाड़ी तेज और कमजोर होना !
  • पेट दर्द के साथ अंडकोष में सूजन !
  • तेज पेट दर्द के साथ बुखार होना !
  • पेट दर्द के साथ पेशाब का रुक रुक कर आना !

गुर्दे के शूल के जोखिम कारक renal collic risk factors

कई कारकों से गुर्दे की शूल renal colic विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है ! जोखिम वाले सभी लोगों को गुर्दे की बीमारी हो सकती है जोखिम कारकों में शामिल हैं ! निर्जलीकरण, विटामिन डी में उच्च आहार, मूत्र वर्धक का अति प्रयोग, गुर्दे की पथरी के पारिवारिक इतिहास, आंतो की खराबी (क्रोहन रोग, पोस्टॉपरेटिव इत्यादि), कैल्शियम आधारित एंटासिड़, गर्भावस्था आदि !

वृक् सूल के कारण causes of renal colic

गुर्दे में पत्थरों के निर्माण से वृक्क शूल renal colic का निर्माण होता है ! जब ये पत्थर मूत्र के प्रवाह में हस्तक्षेप करते हैं, तो वे गुर्दे को प्रफुल्लित कर सकते हैं ! दर्द की लहरें (सूल) पैदा कर सकते हैं ! गुर्दे की पथरी विभिन्न कारणों से बन सकती है !

गुर्दे की पथरी के कारण – गुर्दे की पथरी जो गुर्दे के शूल का कारण बनती हैं ! वह विभिन्न प्रकार के रसायनों से बन सकती है और निम्नलिखित कारणों से हो सकता है !

  • कीमोथेरेपी chemotherapy
  • सिस्टिन्यूरिया cystinuria
  • आंतों के रोग rectum disease
  • हाइपर्केल्शियूरिया hypercalciuria
  • जोड़ों में जमा अतिरिक्त यूरिक एसिड uric acid
  • मूत्र पथ संक्रमण infection in ureters
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस ulcerative colitis
  • अन्य शल्य चिकित्सा other surgery
  • गुर्दे के दोष kidney disorder
वृक् सूल का इलाज कैसे किया जाता है how to treat renal colic

गुर्दे की शूल और गुर्दे की पथरी के लिए उपचार में दर्द को कम करना और पत्थरों को तोड़ना शामिल है।कुछ मामलों में, गुर्दे की पथरी अपने आप ही गुजर सकती है, जिससे गुर्दे की शूल के लक्षण हल हो सकते हैं। हालांकि, गुर्दे की पथरी के लिए पुनरावृत्ति होना आम है। बहुत सारे तरल पदार्थ पीने से पथरी निकल सकती है और गुर्दे की शूल की पीड़ा कम हो सकती है !

वृक् सूल और गुर्दे की पथरी के लिए दवाएं medicine for renal colic

गुर्दे की पथरी को तोड़ने में मदद करने के लिए कुछ दवाओं का उपयोग किया जा सकता है ! और अन्य दवाओं का उपयोग दर्द के इलाज के लिए किया जा सकता है गुर्दे की शूल की दवाओं में निम्नलिखित शामिल हैं !

  • Allopurinol (यूरिक एसिड गुर्दे की पथरी के लिए)
  • Alpha blocker medications(पथरी निकालने के लिए)
  • cystine control medication (पेशाब में क्रिस्टल लेबल कम करने के लिए)
  • Antibiotics (इंफेक्शन को कम करने के लिए)
  • potassium citrate or sodium bicarbonate (यूरिन pH रेगुलेट करने के लिए और पथरी को बनने से रोकने के लिए)
  • diuretic (पेशाब की मात्रा बढ़ाने के लिए)
  • sodium cellulose phosphate (कैल्शियम को फार्मेशन से रोकने के लिए)
  • pain relief medication (दर्द को कम करने के लिए)
वृक् सूल और गुर्दे की पथरी के लिए अन्य उपचार

दवा के अलावा, गुर्दे की पथरी के इलाज या हटाने के लिए अन्य उपचार की आवश्यकता हो सकती है ! कुछ मामलों में, सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है। कुछ अन्य उपचार जिससे गुर्दे की पथरी का दर्द renal colic कम किया जा सकता है ! गुर्दे की पथरी के अन्य उपचार में शामिल हैं ! heat therapy- दर्द को कम करने के लिए ! lithotripsy- गुर्दे की पथरी को तोड़ने के लिए अल्ट्रासोनिक कंपन का उपयोग !

urethro scopy- न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी ! ureteral stent placement यूरेटरल स्टेंट प्लेसमेंट- गुर्दे से मूत्र मार्ग तक renal colic अवरुद्ध को कम करने के लिए इत्यादि !