Hair fall बालों के झड़ने का कारण और घरेलू उपाय

Hair fall बालों के झड़ने का कारण और घरेलू उपाय

शरीर में किसी हार्मोन की कमी की वजह से बालों के झड़ने (Hair fall) की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं ! जैसे थायराइड ग्रंथि के हारमोंस में कमी होना ! ऐसी स्थिति में बाल जल्दी झड़ने लगते हैं और सफेद हो जाते हैं ! ऐसा होने पर थायराइड हार्मोन की पूर्ति करने के लिए जांच कराकर दवाओं का सेवन जरूरी होता है !

दाद, रूसी, फंगस के इंफेक्शन होने की वजह से भी बाल झड़ते हैं ! यह सिर के साथ शरीर में कहीं भी हो सकते हैं इनका उचित इलाज आवश्यक होता है! अन्यथा बाल झड़ने की समस्या बढ़ती ही रहती हैं ! बालों का कम उम्र में झड़ने का कारण !

कोई पुरानी बीमारी या गलत खानपान की आदत भी हो सकती है ! अत्यधिक मानसिक कार्य करने की वजह से भी बाल झड़ते हैं ! इसके अलावा स्त्रियों में गर्भावस्था के बाद हारमोंस में परिवर्तन !

या आनुवंशिकता की वजह से भी बाल झड़ने की समस्या है होती हैं ! बाल झड़ने की समस्याएं जब हो जाती है तो नहाते समय कंघी करते समय या बालों पर हाथ फेरते समय बाल झड़ने लगते हैं !

बालों के झड़ने का मुख्य कारक होते हैं सिर में रूसी /dandruff या फंगस का इन्फेक्शन होना ही होता है ! ऐसी स्थिति में अच्छी तरह इलाज न किया जाए तो व्यक्ति पूरी तरह से गंजा हो सकता है बालों को झड़ने से रोकने के लिए !

किसी अच्छी क्वालिटी का शैंपू इस्तेमाल करें ! बालों में रुसी ना जमने दें ! साथ ही खानपान में उचित बदलाव करके बालों के झड़ने की समस्या से बचा जा सकता है सप्ताह में तीन चार बार बालों की अच्छी तरह मालिश करें !

और बालों में जब भी कलर करें तो किसी अच्छी कंपनी का आयुर्वेदिक मेहंदी ही उपयोग में लें ! उचित देखभाल से बालों के झड़ने की समस्या से बचा जा सकता है !

बालों के झड़ने का कारण causes of hair fall

हार्मोन असंतुलन के साथ-साथ थायराइड, कब्ज और ट्यूबरक्लोसिस बीमारी की वजह से से भी बाल झड़ते हैं ! असंतुलित खान-पान और दिनचर्या भी इसका एक प्रमुख कारण है ! दवाइयों के दुष्प्रभाव से भी बाल झड़ते हैं ! आइए अब लिस्ट के अनुसार कुछ प्रमुख कारणों को समझते हैं ! आयुर्वेद के अनुसार वात पित्त कफ का अनियमित होना भी बाल झड़ने hair fall की समस्या पैदा करता है !

  • आनुवंशिकता अगर परिवार में पहले से किसी को बाल झड़ने की समस्या है तो आने वाली पीढ़ी में भी बाल झड़ने की संभावना अधिक होती है !
  • लंबी बीमारी और शल्य क्रिया के पश्चात बाल झड़ने की समस्या होती है !
  • फंगस के संक्रमण के कारण बालों में रूसी होती है तत्पश्चात बालों का झड़ना प्रारंभ हो जाता है !
  • हार्मोन अस्तर में अचानक हुए बदलाव खासकर गर्भवती महिलाएं या प्रसव के पश्चात हुए हार्मोन परिवर्तन की वजह से बाल झड़ते हैं !
  • पोषक तत्वों की कमी जैसे प्रोटीन, जिंक, बायोटीन और विटामिन ई की कमी की वजह से बाल झड़ सकते हैं !
  • अत्यधिक मानसिक चिंतन या तनाव की वजह से भी बाल झड़ सकता है !
  • रेडिएशन या कीमो थेरेपी के पश्चात भी बाल झड़ते हैं !
  • अनेकों प्रकार के हेयर कलर हर समय बालों में लगाना भी बाल झड़ने की समस्या पैदा करता है !
  • अधिक नमक नमक का सेवन करने से भी बाल झड़ते हैं !
  • सिर में बैक्टीरिया इन्फेक्शन के द्वारा भी बाल झड़ सकते हैं !
  • पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण भी बाल झड़ते हैं !
  • एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया के कारण यह बाल झड़ सकता हैं !

बाल झड़ने के प्री संकेत hair fall pre symptoms

आमतौर पर बाल झड़ने से पूर्व कई लक्षण दिखाई देते हैं ! इनमें शामिल है बालों में रूसी होना साथ ही साथ बालों में खुजली किसी पैच patch का दिखाई देना यह सभी बालों के झड़ने hair fall के प्री संकेत या लक्षण हो सकते हैं ! साथ ही साथ बालों का पतला होना रुखा होना बालों का दोमुंहा होना एवं शरीर पर खुजली होना इसके संकेत हो सकते हैं !

Hair fall बालों के झड़ने का कारण और घरेलू उपाय

बालों का झडना रोकने के उपाय

बालों के झड़ने के प्रति सजग रहना ही एक बेहतर उपाय हो सकता है ! इसके लिए तेल मसालों और जंक फूड की जगह हरी सब्जियों का अधिक से अधिक सेवन करें ! खानपान के साथ-साथ एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं ! जिसमें 7 से 8 घंटे की पर्याप्त नींद शामिल है ! तनाव को कम करते हुए बालों को संवारने की उपयुक्त टेक्निक पर काम करें !

कुछ मामलों में दवाइयों के सेवन से बालों का झड़ना कम किया जा सकता है ! तनाव को कम करते हुए प्रदूषित वातावरण से दूर रहना अत्यंत आवश्यक है ! अत्यधिक शारीरिक श्रम और रासायन मिश्रित शैंपू से बालों को धोना बालों के लिए खतरनाक साबित होता है इसे बहिष्कृत करें ! साथ ही योगासन और प्राणायाम करना सुनिश्चित करें !

इससे तनाव कम होगा और बाल झड़ने hair fall की समस्या कम होगी ! खाने में मौसमी फलों का प्रयोग प्रारंभ करें एवं हरी सब्जियां अंकुरित अनाज और नींबू का सेवन कर सकते हैं ! इन सभी के सेवन से शरीर में पोषण की मात्रा सामान्य बनी रहती है !

महिलाओं में गर्भावस्था और मेनोपॉज के बाद यह समस्या होती है ! इनके लिए संतुलित आहार स्वस्थ जीवन शैली और तनाव को कम करके बेहतर परिणाम आया जा सकता हैं !

बालों की मजबूती के लिए कुछ विटामिंस vitamins for hair fall

शरीर में पोषण की कमी अर्थात विटामिंस और मिनरल्स की कमी के कारण भी hair fall बाल झड़ते हैं ! कुछ विटामिनों का सेवन बालों के झड़ने की समस्या को कम कर सकता है ! आइए अब कुछ विटामिंस को लिस्ट अनुसार समझते हैं !

  • Vitamin A- यह विटामिन शरीर के विकास के साथ-साथ बालों के लिए उत्तरदाई उत्तकों को मजबूती प्रदान करता है ! साथ ही यह बालों की वृद्धि के लिए भी जिम्मेदार माना जाता है ! इसके लिए दूध, अंडे, मछली, कॉड लिवर ऑयल इत्यादि का सेवन करें !
  • Vitamin B- बालों के विकास में विटामिन बी अर्थात बायोटीन भी प्रमुख भूमिका निभाता है ! यह रेड ब्लड कॉरपसिल्स के निर्माण में भी मदद करता है ! जिससे बालों की कोशिकाओं तक ब्लड सरकुलेशन और ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंचता है ! इसके लिए अनाज, बादाम, मांस, मछली, अंडे, और हरी सब्जियों का सेवन कर सकते हैं
  • Vitamin C- विटामिन सी एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है जो शरीर के विकास के साथ-साथ तनाव से भी बचाता है ! इस विटामिन बालों के पोषण के लिए आवश्यक खनिज पदार्थ को शरीर में अवशोषित करता है ! इसके लिए खट्टे फल, नींबू, संतरे, स्ट्रॉबेरी आदि का सेवन कर सकते हैं !
  • Vitamin D- यह विटामिन बालों के विकास के लिए अति आवश्यक है इसके द्वारा बालों के नए रोम बनने में मदद मिलती है ! इसके लिए वसायुक्त मछली, कॉड लिवर ऑयल, मशरूम, फोर्टीफाइड भोजन और विटामिन डी का सेवन कर सकते हैं !
  • Vitamin E- विटामिन ए के सेवन से पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण सामान्य रूप से होता है साथ ही बालों की कोशिकाओं तक भी पर्याप्त खून और पोषण पहुंचता है ! इसके लिए बादाम, सूरजमुखी, का तेल मूंगफली, सोयाबीन, एवोकैडो और पालक का सेवन कर सकते हैं !

बालों के झड़ने का सटीक निदान

बालों के झड़ने hair fall के सटीक कारणों का पता लगाने के लिए परिवार का इतिहास बालों की प्रकृति जानना जरूरी होता है ! परंतु कभी-कभी अप्रत्यक्ष कारणों को जानने हेतु कुछ जांचे आवश्यक होती हैं ! इनको हम लिस्ट अनुसार समझते हैं !

  • खून की जांच
  • फिजिकल हेयर पुल टेस्ट
  • सिर की त्वचा की बायोप्सी
  • माइक्रोस्कॉपी
  • लाइट माइक्रोस्कोप

बालों के झड़ने के इलाज

hair fall के इलाज के लिए कई तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है चिकित्सक बाल और शरीर की प्रकृति के अनुसार इलाज का चुनाव करते हैं ! वे कुछ दवाओं का चुनाव कर सकते हैं जो एंड्रोजन के अस्तर को बढ़ा सकती हैं ! या हेयर वीविंग का भी तरीका चुना जा सकता है ! यह सिर पर कृत्रिम रूप से चिपके होते हैं जिसमें आप आसानी से कंघी भी कर सकते हैं !

हालांकि इसमें कुछ प्रतिबंधात्मक शर्तें हो सकती हैं ! इसमें सर्जिकल रूप से गंजे स्थानों में कृत्रिम बालों को सिल दिया जाता है ! यह वर्तमान समय में सबसे उपयुक्त और प्रचलित तरीका है ! हालांकि आप सस्ते संसाधनों के अनुसार एक बिग का चयन कर सकते हैं !

Hair fall बालों के झड़ने का कारण और घरेलू उपाय

बालों के झड़ने का होम्योपैथिक उपचार

1 – शीत प्रकृति के कारण बालों के झड़ने की जो समस्या होती है उसमे भौंहो मूछों और जनन इंद्रियों के बाल झड़ते हैं ! इसके लिए सेलेनियम औषधि 30 या 200 की पावर देना लाभकारी होता है !

2 – सिर में खुश्की रूसी होना और सिर में पपड़ीदार रुसी जमा हो जाने के कारण बालों के झड़ने में होम्योपैथिक की थूजा थूजा 30 की पावर देने से बालों का झड़ना कम हो जाता है !

3 – बालों का गुच्छे के रूप में झड़ना या पैच का बनाना की समस्या में अगले कुछ दिनों तक फास्फोरस की 30 शक्ति और बाद में कुछ दिनों तक कैलकेरिया फास की 3x पावर के सेवन से बालों का झड़ना कम हो जाता है !

4 – अगर बालों की जड़ कमजोर होने के कारण बाल झड़ने की समस्या या रूसी अथवा त्वचा लाल होने के कारण बाल झड़ने की समस्या हो तो आर्सेनिक दवा से बालों का झड़ना कम हो जाता है !

5 – गर्भावस्था के समय बाल झड़ रहे हो तो ऐसी स्थिति में नाइट्रम म्यूर की 30 की पावर दिया जा सकता है ! य शीपिया की 200 की पावर देने से बालों का झड़ना कम हो जाता है !

बालों के झड़ने का घरेलू उपचार Hair fall home remedy

बालों के झड़ने hair fall की समस्या में घरेलू उपचार बेहद असरकारक होते हैं ! जिनका प्रयोग करके बालों के झड़ने की समस्या को कम किया जा सकता है जो निम्नलिखित हैं

  • आंवला – आंवले में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बच्चे अधिक होती है यह त्वचा की कोशिकाओं पुनर्जीवित करने में सहायक होती हैं ! साथ ही बालों की कंडीशनिंग और उसे घना और काला भी बनाता है ! बेहतर परिणाम के लिए इसे वनस्पति तेल मेहंदी पाउडर और अंडे के साथ पेस्ट बनाएं और बालों में लगाएं !
  • प्याज – प्याज में सल्फर की मात्रा अधिक होती है यह प्रोटीन और एंजाइम्स के उत्पादन के लिए बेहतर खनिज साबित होता है ! इसे खाने में शामिल करने के साथ इसके रस को अगर बालों में लगाते हैं तो यह रूसी और अन्य संक्रमण को कम करके बालों को झड़ने से बचाता है !
  • एलोवेरा- एलोवेरा में अमीनो एसिड तथा प्रोटियों लाइटिक एंजाइम पाए जाते हैं जो बालों के विकास में सहायक होते हैं ! अच्छे परिणाम के लिए इसे अरंडी के तेल में मेथी पाउडर के साथ पेस्ट बनाकर बालों में लगा सकते हैं !
  • अंडे – अंडे प्रोटीन खनिज तथा विटामिन बी कंपलेक्स का प्रमुख सोर्स है ! जो बालों के लिए बेहतर सिद्ध होता है ! इससे बालों के लिए पोषण भी मिलता है ! तैलीय प्रकृति के बालों के लिए महत्वपूर्ण होता है इसके प्रयोग से तेल का उत्पादन त्वचा में कम होता है ! इसको जैतून के तेल के साथ मिलाकर बालों में लगा सकते हैं !
  • ग्रीन टी – ग्रीन टी के प्रयोग से बालों के रोम को नया जीवन मिलता है ! यह बालों के उत्पादन को उत्तेजित करती हैं ! इसके लिए ग्रीन टी से घोल बनाकर बालों में कंडीशनर कर सकते हैं ! और परिणाम खुद ब खुद देख सकते हैं !
नींबू और जैतून का तेल

बालों के झड़ने से रोकने के लिए नींबू और जैतून का तेल बेहद महत्वपूर्ण है!

  • नींबू – नींबू के प्रयोग से भी बालों का झड़ना कम किया जा सकता है ! इसके प्रयोग से रूसी का प्रभाव कम होता है ! इसके लिए नींबू को दो भागों में कांटे और सिर की त्वचा पर मलें ऐसा सप्ताह में 2 दिन करें !
  • जैतून का तेल – बालों में जैतून के तेल की मालिश करने से सिर की त्वचा में रक्त संचार नियमित तरीके से बना रहता है ! बालों में रूखापन से मुक्ति मिलती है और बाल मजबूत बनते हैं ! और बालों का झड़ना hair fall कम हो जाता है

This Post Has One Comment

Leave a Reply